होम > भारत

कोरोना के डेल्टा वैरिएंट पर वैक्सीन प्रभावी, बूस्टर डोज पर कोई फैसला अभी नहीं

कोरोना के डेल्टा वैरिएंट पर वैक्सीन प्रभावी, बूस्टर डोज पर कोई फैसला अभी नहीं

नई दिल्ली | देश में कोरोना के दैनिक मामले एक बार फिरसे ऊपर की और रुख कर रहे हैं। हालाँकि देशव्यापी टीकाकाएँ अभियान भी अब बहुत तेज़ी से अपनी पहुँच बढ़ा रहा है। ऐसे में टीकों की प्रभावकारिता पर बात करते हुए केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने गुरुवार को कहा कि देश में अब तक कोविड के डेल्टा-प्लस वैरिएंट के लगभग 300 मामलों का पता चला है। 

वर्तमान कोविड स्थिति पर एक प्रेस वार्ता में, उन्होंने कहा कि उनके पास शुरुआत में डेल्टा वैरिएंट के लगभग 60-70 मामले थे और अब लगभग 300 मामले हैं। भूषण ने यह भी कहा कि टीकों की प्रभावशीलता का परीक्षण किया गया है और वे डेल्टा वैरिएंट के खिलाफ प्रभावी हैं।

इस बीच, स्वास्थ्य मंत्रालय के अधिकारियों ने कहा कि केरल एकमात्र ऐसा राज्य है, जहां वर्तमान में एक लाख से अधिक सक्रिय मामले हैं। भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद के महानिदेशक, डॉ. बलराम भार्गव ने कहा कि चार राज्यों महाराष्ट्र, कर्नाटक, तमिलनाडु और आंध्र प्रदेश में 10,000 से 1 लाख के बीच सक्रिय मामले हैं और बाकी में 10,000 से कम सक्रिय मामले हैं।

उन्होंने कहा, जून 2021 में प्रतिदिन 100 मामले दर्ज करने वाले 279 जिलों से यह संख्या घटकर 42 जिलों पर आ गई है, जो 30 अगस्त, 2021 तक दैनिक आधार पर 100 से अधिक मामलों की रिपोर्ट कर रहे हैं।

सक्रिय मामलों में गिरावट का रुझान दिख रहा है। कुल 39 जिलों में साप्ताहिक पॉजिटिविटी रेट 10 प्रतिशत से अधिक है। इस बीच, भारत का रिकवरी रेट 97.5 फीसदी है।

भूषण ने यह भी कहा कि अगस्त माह में औसतन 59.29 लाख के औसत से 18.38 करोड़ खुराकें दी गई हैं। महीने के अंतिम सप्ताह में, हमने प्रतिदिन 80 लाख से अधिक खुराक दी हैं।

बूस्टर डोज के सवाल पर उन्होंने कहा कि एक समिति आंकड़ों पर नजर रखे हुए है और वह इस मुद्दे पर साक्ष्य के आधार पर फैसला लेगी।


फराह खान को हुआ कोरोना, वैक्सीनेशन के बाद भी हुई संक्रमित




0Comments