होम > सेहत और स्वास्थ्य

डिप्रेशन से लेकर ब्लड शुगर, कई बीमारियों में फायदेमंद है “वॉकिंग मेडिटेशन”

डिप्रेशन से लेकर ब्लड शुगर, कई बीमारियों में फायदेमंद है “वॉकिंग मेडिटेशन”

डॉक्टर हो या योग गुरु कई बार मेडिटेशन की सलाह देते है। मेडिटेशन के अलावा वॉकिंग मेडिटेशन भी किया जाता है। ये भी ध्यान लगाने की प्रक्रिया होती है। मगर इस प्रक्रिया में ध्यान चलते हुए लगाया जाता है। 


क्या है वॉकिंग मेडिटेशन


इस प्रक्रिया में चलते या टहलते हुए ध्यान लगाने को कहा जाता है। मेडिटेशन में जहां आंखें बंद होती है वहीं वॉकिंग मेडिटेशन में आंखें खुली रखनी होती है। बढ़ते हुए हर कदम पर फोकस रखना होता है। आसपास के शोर को नजरअंदाज करते हुए चलना होता है।


ऐसे करें वॉकिंग मेडिटेशन


वॉकिंग मेडिटेशन करने के लिए कई बातों का ध्यान रखना जरूरी है। सबसे पहले आरामदायक कपड़े और जूते पहनने जरूरी है। ये मेडिटेशन ऐसी जगह पर हो सकती है जहां का वातावरण साफ सुथरा और शांत हो। इसके लिए आप किसी पार्क या बगीचे में जा सकते है। वॉक शुरू करते समय सिर्फ पांच मिनट ही चलने की कोशिश करें। 


इसके करने के लिए आपको सबसे पहले अपने दोनों पैरों पर बराबर वजन डालकर खड़ा होना होगा। इसके बाद लंबी सांस ले। चलना शुरू करने से पहले अपने दोनों पैरों पर ध्यान लगाएं। अब चलना शुरू करें। 


चलते हुए ये ध्यान रखें की तेजी से नहीं बल्कि आराम से छोटे छोटे कदमों के साथ चलना है। चलते हुए अपनी सांस पर भी कंट्रोल बनाए रखें। जैसे जैसे चलें सांस भी वैसे ही अंदर बाहर करते रहें यानी चलने और सांस लेने के बीच में तालमेल होना चाहिए। 


चलते समय अपनी गर्दन, कंधों और पेट की मांसपेशियों को ढीला छोड़ें। अपना फोकस रखें और आंखें खुली रखें। ऐसा करने से शरीर को कई तरह के लाभ होंगे। 


तनाव दूर करने में लाभदायक


इससे मांसपेशियों का तनाव कम होता है। अनिद्रा की परेशानी भी दूर होती है। ये पर्याप्त नींद दिलाने में काफी सहायक होता है। इसे करने से एकाग्रता शक्ति भी मजबूत होने लगती है।


ब्लड शुगर लेवल में फायदेमंद


वॉकिंग मेडिटेशन का एक लाभ है कि ये ब्लड शुगर लेवल और ब्लड सर्कुलेशन को सही रखता है। इससे टाइप 2 डायबिटीज के मरीजों को काफी राहत मिलती है।


डिप्रेशन होगा छूमंतर


वॉकिंग मेडिटेशन करने से शारीरिक और मानसिक परेशानियां दूर होती है। इससे डिप्रेशन में काफी लाभ मिलता है। लगातार वॉकिंग मेडिटेशन करने से डिप्रेशन से छुटकारा मिल सकता है। ये मूड बेहतर करने में भी सहायक होता है।


पाचन क्रिया बनाए सही


अगर आपकी पाचन शक्ति कमजोर है तो वॉकिंग मेडिटेशन इसे भी दूर कर सकता है। इससे पेट में गैस, अपच, कब्ज होने की संभावना कम होती है। भोजन पचाने में भी ये मदद करता है। ये पैरों और एड़ियों का दर्द भी कम करता है।