होम > विशेष खबर

आखिर दुनिया को क्या हांसिल हुआ COP27 शिखर सम्मेलन से, आइए जाने

आखिर दुनिया को क्या हांसिल हुआ COP27 शिखर सम्मेलन से, आइए जाने

मिस्र के शर्म-अल-शेख में आयोजित COP27 शिखर सम्मेलन का समापन हो गया है, इस सम्मलेन में सदस्य देशों ने मिलकर एक समझौता किया जिसमे जलवायु परिवर्तन से निपटने के लिए अमीर देश गरीब देशों को धन देंगे, इसके लिए ‘लॉस एंड डैमेज’ के तहत एक फंड बनाया जायेगा।

क्लाइमेट फंड से किन देशों को मिलेगा मुआवजा

इस फंड में वे देश धन जमा करेंगे जो विकसित हैं व उन देशों की वजह पूरी दुनिया में प्रदूषण फैला है, जिन देशों ने पर्यावरण को कम नुकसान किया है या पर्यावरण असंतुलन की मार झेल रहे हैं उन्हें इससे मुआवजा मिलेगा, क्लाइमेट फंड के लिए एक कमेटी का गठन किया जायेगा जिसमे 24 देशों के सदस्य शामिल होंगे जिसमे यह तय होगा कि कौन सा देश मुआवजा देगा तथा किसे मिलेगा।

दुनिया ने इसके लिए लंबे समय तक इंतजार किया: केंद्रीय पर्यावरण मंत्री भूपेंद्र यादव

COP27 शिखर सम्मलेन में भारत के पर्यावरण मंत्री भूपेंद्र यादव ने मिस्र से कहा आप एक ऐतिहासिक सम्मलेन की अध्यक्षता कर रहे हैं जहाँ पर क्लाइमेट फंड के लिए समझौता हुआ है दुनिया ने इसका लम्बा इंतजार किया है, देशों के बीच आम सहमति बनाने में आपके प्रयासों के लिए हम आपको बधाई देते हैं।

विकसित देश क्यों कर रहे हैं विरोध

विकसित देशों का मानना है कि इस फंड से उन्हें क्लाइमेट चेंज के लिए क़ानूनी तौर पर जिम्मेदार ठहराया जायेगा तथा इसके बदले में उन्हें धनराशि देनी पड़ेगी।

क्या है COP सम्मेलन

COP अर्थात Conference of Parties जिसमे 198 देश शामिल हैं, COP की पहली बैठक बर्लिन में 1995 में हुई थी, COP, UNFCCC के अंतर्गत आता है जिसका काम जलवायु परिवर्तन को कम करने के उपाय खोजना तथा जलवायु परिवर्तन सम्बंधित जागरूकता को बढ़ाना व वायुमंडल में ग्रीनहाउस गैसों की मात्रा को स्थिर करना है, COP सम्मेलन की यह 27 वीं बैठक थी इसकी बैठकें हर वर्ष आयोजित होती हैं।