होम > अन्य

महिलाऐ बिछिया क्यों पहनती है जाने इससे जुड़े फायदे

महिलाऐ बिछिया क्यों पहनती है जाने इससे जुड़े फायदे

बिछिया के प्रभाव से महिलाओं में मासिक चक्र नियमित हो जाता है। बिछिया महिलाओं के प्रजनन अंग को भी स्वस्थ रखने में मदद करती है। साथ ही बिछिया महिलाओं के गर्भाधान में भी सहायता करती है। इससे महिलाओं को गर्भधारण करने में आसानी होती है। चांदी विद्युत की अच्छी सुचालक मानी जाती है। यह धरती से प्राप्त होने वाली ध्रुवीय ऊर्जा को खींचकर पूरे शरीर तक पहुंचाती है। इससे महिलाएं ऊर्जावान महसूस करती हैं।

माना जाता है कि पैर की दूसरी उंगली की नसें सीधे दिल और महिलाओं के गर्भाशय (Uterus) से जुड़ी रहती हैं, ऐसे में जब इस उंगली पर बिछिया से दबाव पड़ता है तो नसें भी दबती हैं जिससे नसों में खून का संचार सुचारू ढंग से चलता है, ये बिछिया एक्यूप्रेशर का काम करती है I

1 दोनों पैरों में बिछिया पहनने से महिलाओं का हार्मोनल सिस्टम सही रूप से कार्य करता है।
2 बिछिया पहनने से थाइराइड की संभावना कम हो जाती है। 
3 बिछिया एक्यूप्रेशर उपचार पद्धति पर कार्य करती है जिससे शरीर के निचले अंगों के तंत्रिका तंत्र और मांसपेशियां सबल रहती हैं।

ज्योतिष के अनुसार कभी भी महिलाओं को पैर में सोने की बिछिया नहीं पहननी चाहिए। ऐसा माना जाता है कि भगवान विष्णु की प्रिय धातु सोना ही है और सोने को लक्ष्मी का रूप माना जाता है। यदि महिलाएं पैर में सोने की बिछिया पहनती हैं तो माता लक्ष्मी नाराज हो जाती हैं और पति को धन की हानि होती है।