होम > विशेष खबर

क्यों मनाया जाता है हर वर्ष विश्व जनसंख्या दिवस आइए जाने

क्यों मनाया जाता है हर वर्ष विश्व जनसंख्या दिवस आइए जाने

हर वर्ष 11 जुलाई को विश्व जनसंख्या दिवस मनाया जाता है, विश्व जनसंख्या दिवस मानाने का उद्देश्य पूरे विश्व में जनसंख्या को नियंत्रित करना तथा जनसंख्या नियंत्रण के बारे में दुनिया को परिचित कराना है, जनसंख्या पूरे विश्व के लिए एक चुनौती बनी हुई है, जनसंख्या वृद्धि के कारण भुखमरी, बेरोजगारी, और शिक्षा का आभाव आदि समस्यांए से निपटना पड़ रहा है।

विश्व की आबादी 1800 की शुरुआत में एक अरब थी जिसे दुगना होने में 123 वर्ष का समय लगा, अगला एक अरब होने के लिए 33 साल तथा अगले एक अरब के लिए 14 वर्ष का समय लगा इसी तरह आखरी एक अरब जनसंख्या 11 वर्षो में बढ़ी है 2023 तक पूरे विश्व की कुल जनसंख्या 8 अरब होगी, संयुक्त राष्ट्र के अनुसार 2037 तक 9 अरब तथा 2057 तक विश्व की जनसंख्या 10 अरब होगी।

जनसंख्या वृद्धि का मूल कारण जन्म दर में वृद्धि तथा मृत्यु दर में कमी है, वर्ष 1770 में औसत उम्र 29 वर्ष थी जो अब 72 वर्ष हो गई है, शिशु मृत्यु दर में सुधार हो रहा है 1990 के दशक में शिशु मृत्यु दर प्रति हजार 93 थी वहीं 2020 में यह घटकर प्रति हजार 37 रह गई है, यदि ऐसे ही जनसंख्या बढ़ती रही तो 5 साल में भारत चीन को पीछे छोड़ कर विश्व की सबसे ज्यादा जनसंख्या वाला देश बन जायेगा।

इस वर्ष विश्व जनसंख्या दिवस की थीम है "8 बिलियन की दुनिया: सभी के लिए एक लचीले भविष्य की ओर- अवसरों का दोहन और सभी के लिए अधिकार और विकल्प सुनिश्चित करना"