होम > अजब गजब

जानिए कौन सा शहर है वो जहां भूकंप के आने पर 'नाचने' लगता रहस्यमय पत्थर

जानिए कौन सा शहर है वो जहां भूकंप के आने पर 'नाचने' लगता रहस्यमय पत्थर

माचू पिच्चू शहर विश्व के सात अजूबों में शामिल है जो लंबे समय से एक रहस्य बना हुआ है। माचू पिच्चू को लेकर कुछ सवाल अब पहेली बन चुके हैं, जैसे- यह कब अस्तित्व में आया था? इसे किसने बनाया था? वगैरह-वगैरह। माचू पिच्चू करीब 8 किमी में फैला एक शहर है जो लैटिन अमेरिका में पेरू के उरुबांबा घाटी के पास एक पहाड़ की चोटी पर स्थित है। यह यूनेस्को साइट समुद्र तल से 8,000 फीट की ऊंचाई पर पेरू के एंडीज के पूर्वी ढलानों पर मौजूद है। 


क्वेशुआ भाषा में माचू पिच्चू का अर्थ 'पुरानी चोटी' होता है। माचू पिच्चू का निर्माण इंका साम्राज्य के लोगों ने 15वीं शताब्दी के मध्य में एक शाही संपत्ति या पवित्र धार्मिक स्थल के रूप में किया था। पहले इंका सम्राट पचकुटेक ने माचू पिच्चू के निर्माण का आदेश दिया था, जो उनके 1000 वंशजों का घर था। 16वीं शताब्दी में जब स्पेनिश आक्रमणकारियों ने इंका सभ्यता खत्म कर दिया तो माचू पिच्चू वीरान हो गया। 


ये दुनिया के लिए आश्चर्य इसलिए है क्योंकि शहर में कम से कम 3000 पत्थर की सीढ़ियां बनी हैं। सबसे दिलचस्प यह कि पूरा शहर धातु के औजारों और पहियों के बिना बनाया गया था। निर्माताओं ने शहर के लिए सिर्फ एक प्रवेश द्वार बनाया ताकि आक्रमण के वक्त इसकी सुरक्षा करना आसान हो। इंका लोगों के पास पत्थर काटने की अद्भुत तकनीक थी जिससे वे आसानी से कहीं भी फिट जा सकते थे।


पत्थरों को इतनी मजबूती से बांधा गया है कि आप उनके बीच से एक क्रेडिट कार्ड भी स्वाइप नहीं कर सकते। इसीलिए यह शहर बेहद मजबूत है और भूकंपों जैसी प्राकृतिक आपदाओं को झेलने के बाद भी कई सदियों से ऐसे ही खड़ा है। कहा जाता है कि भूकंप के दौरान माचू पिच्चू के पत्थर नाचते हैं और फिर अपनी जगह पर गिर जाते हैं। यह पूरी दुनिया से यहां आने वाले पर्यटकों के लिए आकर्षण का प्रमुख केंद्र रहता है।