होम > राज्य > पश्चिम बंगाल

बंगाल एसएससी घोटाला मांमले में मंत्री पार्थ चटर्जी को ईडी ने लिया हिरासत में

बंगाल एसएससी घोटाला मांमले में मंत्री पार्थ चटर्जी को ईडी ने लिया हिरासत में

पश्चिम बंगाल के कैबिनेट मंत्री पार्थ चटर्जी के करीबी सहयोगी, जिनके घर में 20 करोड़ रुपये नकद थे, को गिरफ्तार कर लिया गया है जिसके चलते पार्थ चटर्जी को भी कोलकाता की बैंकशाल कोर्ट में पेश किया गया। जिस पर जल्द ही सुनवाई शुरू होगी।

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने बंगाल के कथित शिक्षक भर्ती घोटाले के सिलसिले में आज, शनिवार को पार्थ चटर्जी को गिरफ्तार किया। इनकी गिरफ़्तारी अर्पिता के घर से 20 करोड़ रुपये बरामद होने के ठीक एक दिन बाद हुई है। जहां एसएससी की भर्ती में की गई कथित अनियमितताओं की जांच कर रही है, वहीं ईडी घोटाले में पैसे के लेन-देन पर नजर रख रही है।

अर्पिता मुखर्जी को भी जल्द ही गिरफ्तार किए जाने की संभावना है। पश्चिम बंगाल के मंत्री पार्थ चटर्जी, सोमवार तक प्रवर्तन निदेशालय की हिरासत में रहेंगे। इसके बाद उसे प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट कोर्ट में पेश किया जाएगा। प्रवर्तन निदेशालय के एक वकील ने कहा, "मंत्री, पार्थ चटर्जी से जुड़े 14 स्थानों पर तलाशी ली गई। उनके सहयोगी अर्पिता चटर्जी के घर से बरामद दस्तावेज दोनों पक्षों के बीच सीधे संबंध और पैसे के आदान-प्रदान को दर्शाते हैं।"

हालांकि, अर्पिता चटर्जी के वकील ने अदालत को बताया कि उनके मुवक्किल, अर्पिता के आवास से कोई पैसा बरामद नहीं हुआ है। घर में 20 करोड़ रुपये नकद रखने वाली पार्थ चटर्जी की करीबी अर्पिता को प्रवर्तन निदेशालय द्वारा  गिरफ्तार कर लिया गया। वित्तीय जांच एजेंसी ने मामले के सिलसिले में ममता बनर्जी के मंत्री को आज सुबह गिरफ्तार करके उसे कोर्ट में पेश किया गया।

कैश काउंटिंग मशीनों के साथ ईडी के अधिकारी आज सुबह मुखर्जी के आवास पर पहुंचे और दोपहर में, एक ट्रक 500 और 2,000 के नोटों के बड़े पैमाने पर नकदी के ढेर को ले जाने के लिए आरबीआई से बक्से में आया।