होम > व्यापार और अर्थव्यवस्था

अमेज़न ने छंटनी में श्रम कानूनों का उल्लंघन किया लेबर मिनिस्ट्री ने Amazon को जारी किया समन

अमेज़न ने छंटनी में श्रम कानूनों का उल्लंघन किया लेबर मिनिस्ट्री ने Amazon को जारी किया समन

NITES ने इस संबंध में केंद्रीय श्रम मंत्री को एक पत्र भेजकर आरोप लगाया है।कि अमेजन अपने यहां बड़ी संख्या में कर्मचारियों को निकालने की योजना बना रहा है।

ई-कॉमर्स सेक्टर की दिग्गज कंपनी अमेजन वैश्विक स्तर पर बड़े पैमाने पर छंटनी की तैयारी कर रही है। इसकी शिकायत कर्मचारी संघ ने श्रम मंत्रालय में श्रम कानून का उल्लंघन का आरोप लगा कर किया। शिकायत के बाद श्रम मंत्रालय ने अमेज़न इंडिया के पब्लिक पॉलिसी मैनेजर स्मिता शर्मा को तलब किया है।

Twitter और Facebook में हजारों लोगों की छंटनी का मामला अभी थमा भी नहीं था। एमेजॉन ने बड़ी छंटनी का ऐलान कर दिया । मीडिया रिपोर्ट के अनुसार अमेजन इस सप्ताह कॉर्पोरेट और IT क्षेत्र में काम करने वाले लगभग 10,000 लोगों की छंटनी करने की योजना बना रहा है। ये छंटनी दुनिया भर में काम कर रहे कर्मचारियों में से की जाएगी. बताना चाहेंगे । कि 31 दिसंबर 2021 तक के आंकड़ों के मुताबिक, अमेजन में फुल-टाइम और पार्ट-टाइम मिलाकर करीब 16 लाख कर्मचारी काम करते हैं।

लेबर मिनिस्ट्री ने एमेजॉन इंडिया के पब्लिक पॉलिसी मैनेजर को तलब किया है। इस जिम्मेदारी को संभाल रहीं स्मिता शर्मा को आज 23 नवंबर को विचार-विमर्श के लिए बुलाया गया है।

कंपनी के इस Layoff Plan को लेकर कर्मचारी संघों ने नाराजगी जाहिर की है। NITES के अध्यक्ष हरप्रीत सिंह सलूजा ने कहा कि एमेजॉन के कर्मचारीजिन्होंने कम से कम एक साल तक लगातार सेवाएं दी हैं। उन्हें तब तक नौकरी से नहीं हटाया जा सकता है। जब तक कि उन्हें तीन महीने पहले नोटिस नहीं दिया जाता है। और सरकार से पूर्व अनुमति नहीं मिलती है।