होम > व्यापार और अर्थव्यवस्था

फ्रांस : गूगल, फेसबुक पर कुकी ट्रैकिंग को लेकर 235 मिलियन डॉलर का जुर्माना

फ्रांस : गूगल, फेसबुक पर कुकी ट्रैकिंग को लेकर 235 मिलियन डॉलर का जुर्माना

सैन फ्रांसिस्को | फ्रांस में कुकी ट्रैकिंग के लिए गूगल और फेसबुक पर संयुक्त रूप से 235 मिलियन डॉलर का जुर्माना लगाया गया है। मीडिया रिपोर्ट्स में इसकी जानकारी दी गई। पोलिटिको में एक दस्तावेज का हवाला देते हुए प्रकाशित एक रिपोर्ट के मुताबिक, फ्रांसीसी निगरानी आयोग नेशनेल डी इनफॉर्मेटिक एट डेस लिबर्टेस (सीएनआईएल) फ्रांसीसी डेटा गोपनीयता नियमों का उल्लंघन करने के लिए गूगल पर 150 मिलियन यूरो और फेसबुक पर 60 मिलियन यूरो का जुर्माना लगाने की योजना बना रहा है।


बुधवार की देर रात रिपोर्ट में कहा गया, "फ्रांसीसी यूजर्स को कुकी ट्रैकिंग तकनीक को आसानी से अस्वीकार करने की अनुमति देने में विफल रहने के लिए" कार्रवाई की जा रही है।


सीएनआईएल के निर्णय जारी होने के तीन महीने के भीतर मुद्दों का समाधान नहीं करने पर दोनों टेक दिग्गजों पर प्रति दिन 100,000 यूरो का जुर्माना लगाया जाएगा।


मेटा के प्रवक्ता ने रिपोर्ट में कहा, "हम प्राधिकरण के फैसले की समीक्षा कर रहे हैं और संबंधित अधिकारियों के साथ काम करने के लिए प्रतिबद्ध हैं।"


प्रवक्ता ने कहा, "हमारे कुकी सहमति नियंत्रण लोगों को उनके डेटा पर अधिक नियंत्रण प्रदान करते हैं, जिसमें फेसबुक और इंस्टाग्राम पर एक नया सेटिंग मेनू भी शामिल है, जहां लोग किसी भी समय अपने निर्णयों को फिर से देख सकते हैं और प्रबंधित कर सकते हैं। हम इन नियंत्रणों को विकसित और सुधारना जारी रखते हैं।"


गूगल ने रिपोर्ट पर कोई टिप्पणी नहीं की।


यह पहली बार नहीं है जब फ्रांस के प्राइवेसी रेगुलेटर ने बिग टेक पर जुर्माना लगाया है।


दिसंबर 2020 में, सीएनआईएल ने ई-गोपनीयता नियमों के तहत कुकी उल्लंघन के लिए अमेजन और गूगल पर क्रमश: 35 मिलियन यूरो और 100 मिलियन यूरो का जुर्माना लगाया।


वॉचडॉग ने जनरल डेटा प्रोटेक्शन रेगुलेशन (जीडीपीआर) के तहत गूगल पर 50 मिलियन यूरो का जुर्माना भी लगाया था।


जेडडीनेट की रिपोर्ट के अनुसार, व्हाट्सएप पर पिछले साल सितंबर में "अपनी मूल कंपनी के साथ डेटा साझा करने के तरीके के बारे में पारदर्शी नहीं होने के कारण" 225 मिलियन यूरो का जुर्माना लगाया गया था।


भ्रामक डेटा संग्रह नीतियों के बारे में जीडीपीआर गोपनीयता नियमों का उल्लंघन करने के लिए फेसबुक को लाखों रुपये के जुर्माने का भी सामना करना पड़ रहा है।