होम > व्यापार और अर्थव्यवस्था

Inflation Rate: बढ़ती महंगाई पर SBI ने व्यक्त की चिंता, ब्याज दरों में होगी बढ़ोतरी

Inflation Rate: बढ़ती महंगाई पर SBI ने व्यक्त की चिंता, ब्याज दरों में होगी बढ़ोतरी

नई दिल्ली | एसबीआई ( SBI ) के नये शोध रिपोर्ट में कहा गया है कि भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा ब्याज दरों में बढ़ोतरी किये जाने के बाद भी देश में महंगाई दर ( Inflation Rate ) के सामान्य होने में समय लगेगा। रिपोर्ट में कहा गया है कि महंगाई में लगातार तेजी को देखते हुये यह लगभग सुनिश्चित हो गया है कि RBI जून और अगस्त की बैठक में भी ब्याज दरों में बढ़ोतरी करेगा। RBI अगस्त तक इसे कोरोना महामारी के पूर्व के स्तर 5.15 प्रतिशत के स्तर तक ले जायेगा।


रिपोर्ट में कहा गया है कि महंगाई बढ़ने का भय बना रहेगा और इस बात की संभावना कम है कि इस पर जल्द काबू पाया जा सकेगा। SBI ने रूस-यूक्रेन ( Russia Ukraine War ) के बीच जारी युद्ध का देश के ग्रामीण और शहरी इलाकों में महंगाई पर असर का अध्ययन किया। शोध में फरवरी माह को आधार माह के रूप में लिया गया। फरवरी में ही यह युद्ध शुरू हुआ था। शोध से पता चला कि युद्ध के कारण महंगाई में 52 फीसदी योगदान खाद्य और पेय पदार्थो तथा परिवहन का रहा।


रिपोर्ट में कहा गया है कि अगर लागत मूल्य पर युद्ध के प्रभाव को भी इसमें जोड़ा जाये, खासकर FMCG क्षेत्र में, तो महंगाई में इस युद्ध का योगदान बढ़कर 59 प्रतिशत हो जायेगा। रिपोर्ट में कहा गया है कि RBI के समक्ष चुनौती यह है कि क्या बिना युद्ध के समाप्त हुये सिर्फ ब्याज दरों में बढ़ोतरी करके महंगाई पर काबू पाया जा सकेगा। SBI की शोध रिपोर्ट में इस बात भी चिंता व्यक्त की गई है कि RBI द्वारा ब्याज दरों में बढ़ोतरी किये जाने से आर्थिक विकास की गति बाधित होगी जबकि महंगाई का भय पहले की तरह ही बना रहेगा। गौरतलब है कि अप्रैल में खुदरा महंगाई दर 7.79 प्रतिशत दर्ज की गई थी।