होम > व्यापार और अर्थव्यवस्था

Moody's Rating: पटरी पर लौट रही भारतीय अर्थव्यवस्था, वित्त वर्ष में 8.2% बढ़ सकता है GDP

Moody's Rating: पटरी पर लौट रही भारतीय अर्थव्यवस्था, वित्त वर्ष में 8.2% बढ़ सकता है GDP

नई दिल्ली | अंतर्राष्ट्रीय रेटिंग एजेंसी मूडीज ( Moody's ) ने कहा है कि ( COVID-19 ) कोरोना महामारी के बाद भारतीय अर्थव्यवस्था ( Indian Economy ) पटरी पर लौट रही है और रूस-यूक्रेन के बीच जारी जंग इसे पटरी से नहीं उतार पायेगी। मूडीज भारतीय अर्थव्यवस्था को लेकर बहुत सकारात्मक है। उसका कहना है कि यूक्रेन में जारी युद्ध भारत की आर्थिक रिकवरी की गति में बाधक नहीं बन पायेगा।


मूडीज ने ताजा रिपोर्ट के अनुसार, चालू वित्त वर्ष में भारत की GDP 8.2 प्रतिशत की दर से वृद्धि करेगी। उसके मुताबिक G20 देशों में यह सबसे बेहतर वृद्धि दर है। रेंटिंग एजेंसी का कहना है कि बैंकों के लिये अभी आर्थिक माहौल बहुत अनुकूल है। बैंकों का ऋण प्रदर्शन और उनका लाभ बढ़ रहा है। पूंजी और तरलता का स्तर भी स्थिर है।


रिपोर्ट में कहा गया है कि रूस और यूक्रेन के बीच जारी जंग की वजह से भारत में महंगाई दर और ब्याज दर में तेजी आयेगी और आपूर्ति बाधा भी होगी। भारत कृषि प्रधान देश है और यह खाद्यान्नों का बड़ा निर्यातक है। हालांकि, कुछ कृषि उत्पादों के लिये यह आयात पर निर्भर है।


Moody's ने कहा कि खाद्य पदार्थो की कीमतों में तेजी ने प्रत्यक्ष रूप से महंगाई दर को प्रभावित किया है जबकि ईंधन की कीमतों में तेजी भी इस पर प्रतिकूल असर डालेगी। यूक्रेन युद्ध शुरू होने से पहले भारत में खुदरा महंगाई दर 6.1 प्रतिशत थी जो मार्च में बढ़कर सात प्रतिशत हो गई।