होम > व्यापार और अर्थव्यवस्था

अगले हफ्ते दाखिल कर सकती है "OYO" 8,000 करोड़ का आईपीओ

अगले हफ्ते दाखिल कर सकती है

हॉस्पिटैलिटी फर्म OYO की मूल कंपनी ओरावेल स्टेज़ के शेयरधारकों ने एक नियामक फाइलिंग के अनुसार, कंपनी को एक प्राइवेट लिमिटेड कंपनी से पब्लिक लिमिटेड कंपनी में बदलने की मंजूरी दे दी है। सूत्रों के अनुसार सॉफ्टबैंक समूह समर्थित भारतीय हॉस्पिटैलिटी स्टार्टअप ओयो होटल्स एंड रूम्स (OYO hotels and Rooms)  के अगले सप्ताह एक प्रारंभिक सार्वजनिक पेशकश (initial public offering) के लिए फाइल कर सकता है। 

होटल एग्रीगेटर OYO भारत की वित्तीय राजधानी मुंबई में सूचीबद्ध होना चाहता है और इसका आईपीओ अस्थायी रूप से 1 बिलियन और $ 1.2 बिलियन डॉलर के बीच आंका गया है। इसमें नए शेयरों की मौजूदा शेयरधारकों से बिक्री की पेशकश भी शामिल होगी। 

लिस्टिंग की ये योजना जुलाई में खाद्य वितरण फर्म जोमैटो लिमिटेड द्वारा एक शानदार शुरुआत के बाद आई है। बर्कशायर हैथवे इंक (Berkshire Hathaway Inc) समर्थित पेटीएम (PayTm) और निजी इक्विटी फर्म टीपीजी (TPG ) समर्थित नायका (Nykaa) ने भी आईपीओ के लिए आवेदन किया है। ओला (Ola), जिसे सॉफ्टबैंक (Softbank Group ) का भी समर्थन प्राप्त है, भी बाजारों में प्रवेश करने के लिए तैयार है।

ओयो, जिसमें सॉफ्टबैंक की 46% हिस्सेदारी है, यह कदम उसके सबसे बड़े दांवों में से एक है। OYO ने हाल ही में कोरोना महामारी के कारण महीनों की छंटनी, लागत में कटौती और नुकसान का सामना किया है। OYO के संस्थापक और मुख्य कार्यकारी रितेश अग्रवाल (founder and Chief Executive Ritesh Agarwal) ने जुलाई में कहा था कि भारत में COVID-19 संक्रमण की दूसरी लहर से पहले देखे गए स्तरों पर व्यापार के लौटने और "वहां से बढ़ने" की संभावना देखि गई थी ।

पिछले महीने, Oyo को Microsoft Corp, Kotak Mahindra Capital, JP Morgan और Citi से $ 5 मिलियन का निवेश प्राप्त हुआ, जो Oyo को IPO पर सलाह देने वाले अहम् बैंकर हैं। कंपनी अपने इक्विटी शेयरों को एक या एक से अधिक स्टॉक एक्सचेंजों पर सूचीबद्ध करने का इरादा रखती है ताकि शेयरधारकों को इक्विटी शेयरों से निपटने के लिए एक औपचारिक बाज़ार के साथ सक्षम बनाया जा सके।

0Comments