होम > राज्य > पंजाब

पंजाब में फ्री बिजली पर कैप्टन का केजरीवाल पर निशाना, कहा- दिल्ली में पंजाब से महंगी है बिजली

पंजाब में बिजली को लेकर चल रही सियासत कम होने का नाम नहीं ले रही है। कुछ दिन पहले चंडीगढ़ आकर आम आदमी पार्टी की सरकार बनने पर राज्य के लोगों को 300 यूनिट तक मु्फ्त बिजली देने की घोषणा करने वाले अरविंद केजरीवाल को अब सीएम अमरिंदर सिंह ने जवाब दिया है। उन्होंने आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक के वादों पर सवाल उठाए और दिल्ली में बिजली के दाम को लेकर केजरीवाल पर निशाना साधा। सीएम अमरिंदर ने कहा कि दिल्ली के गांवों में मुफ्त बिजली नहीं मिलती है। वहां उद्योगों के लिए भी बिजली के रेट महंगे हैं।


मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, सीएम अमरिंदर ने फ्री बिजली के वादे पर अरविंद केजरीवाल को घेरा। उन्होंने कहा कि अरविंद केजरीवाल की नजर पंजाब के विधानसभा चुनाव पर है। सच्चाई यह है कि केजरीवाल सरकार दिल्ली में सभी मोर्चों पर फेल साबित हुई है। राष्ट्रीय राजधानी के गांवों के किसानों को मुफ्त बिजली नहीं दी जाती है। दिल्ली में उद्योगों के लिए भी बिजली दरें बहुत ज्यादा हैं। उन्होंने कहा कि केजरीवाल ने 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव के कारण सिर्फ पंजाब में 300 यूनिट मुफ्त बिजली की घोषणा की है। दिल्ली सरकार ने बिजली का वितरण करने वाली रिलायंस जैसी निजी कंपनियों को आम लोगों की कीमत पर अधिक बिजली दरें वसूल कर अपनी जेब भरने के की इजाजत दी हुई है। कैप्टन ने कहा कि केजरीवाल की सरकार औद्योगिक इकाइयों से बिजली के लिए 9.80 रुपये प्रति यूनिट वसूल कर रही है, जबकि पंजाब में उद्योगों को 5 रुपये प्रति यूनिट की दर से सब्सिडी पर बिजली दी जा रही है। सूबे में 1.43 लाख इंडस्ट्रीज हैं। उनको सब्सिडी पर 2226 करोड़ रुपये की बिजली उपलब्ध करवाई जा रही है। पंजाब में 13.79 लाख किसानों को 6735 करोड़ रुपये की फ्री बिजली दी जा रही है, जबकि दिल्ली सरकार ने ऐसा कुछ नहीं किया है।