होम > क्राइम

एसओटी के एक संयुक्त अभियान में 12 ग्राम हेरोइन जब्त, 4 नशा तस्कर गिरफ्तार

एसओटी के एक संयुक्त अभियान में 12 ग्राम हेरोइन जब्त, 4 नशा तस्कर गिरफ्तार

यह घटना हैदराबाद की है जहाँ सरूरनगर पुलिस के साथ एलबी नगर जोन के स्पेशल ऑपरेशंस टीम द्वारा मिल कर चलाए गए एक संयुक्त अभियान में, 4 अंतर-राज्यीय सिंथेटिक नारकोटिक ड्रग पेडलर्स को धर दबोचा और उनके पास से 12 ग्राम हेरोइन और लगभग 1.50 लाख रुपये के अन्य सामान को भी अपने कब्ज़े में लिया।

एक मुख़्बिर द्वारा गुप्त सूचना मिलने पर सरूरनगर पुलिस और एलबी नगर जोन के स्पेशल ऑपरेशंस टीम ने तड़के सुबह करमनघाट में सरूरनगर में रहने वाले आरोपी के ठिकाने पर छापा मारा और 4 आरोपियों को गिरफ्तार भी किया, साथ ही नशीले पदार्थ और 4 मोबाइल फोन भी अपने कब्ज़े में लिए।

स्थानीय पुलिस द्वारा पूछताछ के दौरान आरोपियों ने यह स्वीकार किया कि अतिरिक्त लाभ कमाने के उद्देश्य से  वह हेरोइन ड्रग के शुद्ध रूप को लिडोकेन, इनोसिटोल और मैनिटोल (रसायनों को पाउडर रूप में बदल कर) पतला कर के और मिलावटी वर्जित पदार्थ को 10,000/ ग्राम के अनुसार बेचते थे।

रचाकोंडा के पुलिस अधिकारी महेश एम. भागवत ने एक संवाददाता सम्मेलन में बताया कि अपराधियों ने उन्हें यह  जानकारी प्रदान करी है कि उनके सह-आरोपी पालम निवास नेल्लोर जिले के मणिकोंडा के निवासी हैं और उनका बहनोई वेंकट रंगनाधा चारी और पालम निवास दोनों ही ड्रग्स लेने के आदी थे और वे ग्राहकों के लिए ड्रग्स की खरीददारी और आपूर्ति भी करते थे।

पुलिस के अनुसार, 2016 में आरोपी पालम निवास बेंगलुरु में मोहम्मद साद के संपर्क में आया था। मोहम्मद साद ने अपने सह-आरोपी सैयद आमिर मोइज़ और एक ड्रग डीलर प्रताप, जो सरगना है और अभी फ़िलहाल फरार है, से 5,000 रुपये से 6,000 रुपये प्रति ग्राम के हिसाब से ड्रग्स खरीदता था और 2,000 रुपये के अंतर के साथ  बेंगलुरु में बेचता था।

हाल ही में सैयद आमिर मोइज और मोहम्मद साद अपने सह-आरोपी रंगनाधा चारी और पालेम निवास को ड्रग्स सौंपने के लिए हैदराबाद आए थे और उन्हें वही पुलिस टीम ने गिरफ्तार कर लिया। जिसके बाद आरोपीयों को जब्त की गयी संपत्ति सहित न्यायालय में पेश किया गया।