होम > क्राइम

एक आवासीय छात्रावास की 5 छात्राओं ने सह-छात्राओं से हुई झड़प के बाद आत्महत्या का प्रयास किया

एक आवासीय छात्रावास की 5 छात्राओं ने सह-छात्राओं से हुई झड़प के बाद आत्महत्या का प्रयास किया

यह घटना वारंगल की है जहाँ महात्मा ज्योतिराव फुले पिछड़ा वर्ग कल्याण आवासीय छात्रावास की 5 छात्राओं ने छात्रावास परिसर में आयोजित एक जन्मदिन कार्यक्रम के समय अपनी सह-छात्राओं के साथ झड़प के बाद सैनिटाइजर पीकर आत्महत्या करने का प्रयास किया।

उन 5 छात्राओं में से एक छात्रा अपने कमरे में अन्य छात्राओं के साथ मिलकर अपना जन्मदिन मना रही थी। उन छात्राओं ने छात्रावास के कर्मचारियों को बिना बताये छात्रावास के बाहर से कुछ लड़कों को भी समारोह में शामिल होने के लिए आमंत्रित किया।

जब छात्रावास के कर्मचारियों ने लड़कों से पूछताछ करने के बाद उन्हें छात्रावास में जाने नहीं दिया तो लड़कियों ने छात्रावास के कर्मचारियों को यह कहकर समझाने की कोशिश की कि वे लड़के उनके रिश्तेदार हैं। छात्रावास के अंदर न जाने देने के कारण लड़कों की छात्रावास के कर्मचारियों के साथ भारी बहस हो गई।

इसके बाद यह मामला मुख्य अधिकारियों के संज्ञान में आया और उन्होंने  छात्राओं को चेतावनी दी कि वे छात्राओं के माता-पिता को इस घटना के बारे में सूचित करने के बाद छात्राओं को छात्रावास से बाहर निकल दिया जायेगा। इस घटना के बाद छात्रावास की कुछ छात्राओं की बहस उन 5 छात्राओं के साथ हुई कि उन्होंने बाहर से लड़कों को छात्रावास में क्यों बुलाया जिससे अन्य छात्राओं का नाम भी बादनाम हो रहा है। छात्राओं के मध्य चल रहे इस विवाद ने धीरे-धीरे हाथा-पाई का रूप ले लिया।

छात्रावास के कर्मचारी उनके माता-पिता के साथ कितना बुरा व्यवहार करेंगे, इस डर से परेशान पांचों छात्राओं ने छात्रावास की छत पर जा कर सैनिटाइजर पीकर आत्महत्या करने का प्रयास किया। अन्य छात्रोाओं ने इस घटना को देखते ही फ़ौरन  छात्रावास के कर्मचारियों को सूचना प्रदान की, जिन्होंने उन छात्राओं को तुरंत ही  एमजीएम अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया। फ़िलहालअस्पताल के डॉक्टरों द्वारा उन पांचों छात्राओं की हालत स्थिर बतायी जा रही है।