होम > क्राइम

तेलंगाना में एक 21 वर्षीय व्यक्ति ने 2 पिल्लों को बेरहमी से मार डाला

तेलंगाना में एक 21 वर्षीय व्यक्ति ने 2 पिल्लों को बेरहमी से मार डाला

यह घटना हैदराबाद की है जहाँ एक 21 वर्षीय व्यक्ति को स्थानीय पुलिस ने दो पिल्लों को मारने और इस दानवीय घटना को वीडियो के रूप में इंस्टाग्राम पर पोस्ट करने के आरोप में गिरफ्तार किया है। आरोपी की पहचान मोहम्मद रियान के रूप में हुई है, जो लगभग 10 साल से मनोरोग से पीड़ित था और संभवतः एक ड्रग एडिक्ट भी था।

स्ट्रे एनिमल्स फाउंडेशन ऑफ इंडिया के क्रूरता-विरोधी अधिकारी ए. गौतम ने उस 21 वर्षीय व्यक्ति पर आरोप लगाया कि आरोपी ने एक पिल्ले को एक इमारत की चौथी मंजिल से नीचे धक्का दे कर मार दिया और दूसरे पिल्ले को एक पेड़ से लटका कर मार दिया, जिसकी शिकायत उन्होंने पुलिस में भी दर्ज कराई। इस तरह के मामलों में राज्य से किसी को न तो दंडित किया गया है और न ही आज तक अदालत में पेश किया गया है। कार्यवाही की कमी के कारण हाल ही में ऐसी घटनाओं में 50 फीसदी की वृद्धि हुई है।

मैलारदेवपल्ली पुलिस स्टेशन के इंस्पेक्टर पी. मधु के अनुसार, “जब हम उसे स्टेशन ले गए तो वह शांत था और उसे अपने कृत्य पर शर्म आ रही थी। वह ड्रग एडिक्ट है या नहीं इसकी पहचान नारकोटिक्स टीम द्वारा की जा रही है। हमने उन्हें 18 नवंबर को गिरफ्तार किया था और उसी दिन उसे जमानत पर रिहा कर दिया गया था।

जानवरों के प्रति क्रूरता के लिए गिरफ्तार किए गए लोगों के खिलाफ कार्रवाई की कमी के खिलाफ पशु कार्यकर्ता विरोध में थे। उन्होंने कहा कि पशु क्रूरता निवारण अधिनियम, 1960 की धारा 11 (एल) के अनुसार, किसी जानवर की हत्या आईपीसी की धारा 429 के तहत दंडनीय अपराध है।

गौतम ने कहा कि, "'तेलंगाना में जानवरों की सामूहिक हत्या के कई उदाहरण हैं। लोग कुत्तों को सिर्फ जहर का इंजेक्शन दे रहे हैं और उनके खाने में भी जहर मिला रहे हैं। अभी तक किसी को जेल या सजा नहीं हुई है। सिद्दीपेट, जगतियाल, नलगोंडा, करीमनगर, खम्मम, मेडक, सूर्यापेट और विकाराबाद में हर महीने ऐसे कई मामले दर्ज किए जाते हैं।”

सिटीजन फॉर एनिमल्स के सदस्य प्रदीप यारा के अनुसार, “पुलिस इस घटना में मदद कर रही है और पशु क्रूरता के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है और उन्हें जल्द ही गिरफ्तार भी किया जायेगा। हालांकि, इससे आगे कोई कार्रवाई नहीं की जाती है।”