होम > क्राइम

एक पति ने अपनी पत्नी की जलने से मौत का आरोप गांधी अस्पताल पर लगाया है

एक पति ने अपनी पत्नी की जलने से मौत का आरोप गांधी अस्पताल पर लगाया है

यह घटना हैदराबाद की है जहाँ 60 वर्षीय सुशीला के जलने पर गांधी अस्पताल में भर्ती कराया। जहां उसे समय पर ड्रेसिंग प्राप्त नहीं हुई, जिसके चलते सुशीला की मौत हो गयी।

सुशीला के पति कामा राजू ने गांधी अस्पताल पर आरोप लगाया है की उसकी पत्नी सुशीला की मौत समय पर सुविधायें न मिलने और गैर-जिम्मेदार चिकित्सा कर्मचारियों की वजह से हुई। एक वीडियो रिकॉर्डिंग के माध्यम से सुशीला के पति ने गांधी अस्पताल पर आरोप लगाया है। इस गांधी अस्पताल में प्रति वर्ष लगभग 80,000 मरीजों का इलाज होता आरहा है।

एक सुबह सुशीला पर खौलता हुआ पानी गिर गया, जिससे उसका पैर बुरी तरह से जल गया था। उसका पति उसे स्थानीय गाँधी अस्पताल ले गया और उसे जनरल वार्ड में भर्ती कराया। गांधी अस्पताल में जिस समय सुशीला की मौत हुई, उस समय वहाँ 1200 मरीजों का इलाज चल रहा था।

वीडियो रिकॉर्डिंग में कामा राजू ने बताया की, आज चौथा दिन है, सुशीला को हर दिन अपने घावों की मरहम-पट्टी करवानी थी। जिस दिन उसे यहां गाँधी अस्पताल लाया गया था, उसी दिन उसने एसओटी में अपनी ड्रेसिंग कराई थी। बाद में, जब भी मैंने एसओटी से संपर्क किया तो उन्होंने मुझे घंटों इंतजार कराया और एसओटी व्यस्त होने की बात कहकर हमें वापस भेज दिया। हम यहां साक्षात् गाँधी अस्पताल के रूप में नरक देख रहे हैं।

सोशल मीडिया पर सुशीला के पति राजू के इस वीडियो रिकॉर्डिंग को भारी प्रतिक्रिया प्राप्त हुई और लोग निराशाजनक सरकारी स्वास्थ्य देखभाल प्रणाली पर जमकर बरस रहे हैं। अस्पताल में पहले काम कर चुके डॉक्टरों ने भी इस बात को स्वीकारा कि गाँधी अस्पताल में अच्छी सुविधाओं की कमी है और वहाँ पर पर्याप्त स्टाफ भी नहीं है। उन्होंने यह भी बताया की अस्पताल में अच्छे गुणवत्तापूर्ण उपचार लाने की आवश्यकता है वरना हलात बद्द्तर हो जायेंगे।