होम > क्राइम

सेना में नौकरी के नाम पर लोगों से ठगी

सेना में नौकरी के नाम पर  लोगों से ठगी

सेना में नौकरी के नाम पर  लोगों से ठगी

मेरठ पुलिस ने आर्मी इंटेलिजेंस के साथ मिलकर दो लोगों को भारतीय सेना में नौकरी दिलाने का झांसा देकर ठगी करने के आरोप में गिरफ्तार किया है। आरोपियों ने पीड़ितों को फर्जी नियुक्ति पत्र भी मुहैया कराए।

विस्तार में

भारतीय सेना में नौकरी दिलाने का झांसा देकर लोगों को ठगने के आरोप में 2 लोगों को गिरफ्तार किया गया है, आरोपी ने हाल ही में एक शख्स से 16 लाख रुपये की ठगी की थी उन्होंने पीड़िता को फर्जी नियुक्ति पत्र और फर्जी आईडी कार्ड भी दिया था।  मेरठ पुलिस ने आर्मी इंटेलिजेंस के साथ मिलकर दो लोगों को भारतीय सेना में नौकरी दिलाने का झांसा देकर ठगी करने के आरोप में गिरफ्तार किया है। पुलिस ने उसके पास से एक पिस्टल, सेना की टुकड़ी, सेना की वर्दी और अन्य सामग्री भी बरामद की है, जिनका इस्तेमाल धोखाधड़ी में किया गया था। 

आरोपियों की पहचान राहुल और बिट्टू के रूप में हुई है। राहुल मूल रूप से मुजफ्फरनगर का रहने वाला है जबकि बिट्टू मेरठ के दौराला का रहने वाला है। ये दोनों युवकों को सेना में नौकरी दिलाने का झांसा देकर बाद में उनसे ठगी करते थे। उन्होंने पीड़ितों को फर्जी नियुक्ति पत्र, फर्जी पहचान पत्र भी उपलब्ध कराये।

फर्जी जॉब ऑफर

मामला तब सामने आया जब गाजियाबाद निवासी मनोज ने आरोपी के खिलाफ मेरठ के दौराला थाने में मामला दर्ज कराया अपनी शिकायत में उसने कहा कि वह 2019 में सेना में भर्ती के लिए फैजाबाद गया था जहां उसकी मुलाकात आरोपियों से हुई थी।  राहुल ने मनोज से वादा किया कि वह उसे और उसके (मनोज के) भाई को सेना में नौकरी दिलाए गा। उसकी मानें तो मनोज ने इसके लिए 16 लाख रुपए दिए।

राहुल ने नियुक्ति पत्र भी दिए और मनोज को ट्रेनिंग के लिए पठानकोट बुला लिया। इस ठगी के दौरान राहुल का एक साथी सेना की वर्दी पहने बिट्टू पीड़ितों से वीडियो कॉल पर बात करता था ताकि शक से बचा जा सके।  पठानकोट में आरोपी ने मनोज को सेना की फर्जी वर्दी और फर्जी आईडी कार्ड भी दिया था। वहां उन्होंने 4 महीने काम किया। आर्मी इंटेलीजेंस के एक अधिकारी ने शक के आधार पर मनोज से पूछताछ की तो पूरा मामला सामने आ गया। जांच में पता चला कि उनका पहचान पत्र और नियुक्ति पत्र फर्जी है। इसके बाद मामला दर्ज कर पुलिस ने दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।