होम > क्राइम

पीलीभीत: मासूम की हत्या के मामले में मृतका के दादाजी और पिता के साथ 5 गिरफ्तार

पीलीभीत: मासूम की हत्या के मामले में मृतका के दादाजी और पिता के साथ 5 गिरफ्तार

पीलीभीत पुलिस ने पीलीभीत जिले में 9 साल के बच्चे की हत्या के खुलासे का दावा किया है। मामले में पुलिस ने मृतका के पिता व पिता समेत तीन चाचाओं को गिरफ्तार किया है| पुलिस ने बताया कि अपने पड़ोसियों को दुश्मनी से पकड़ने के लिए इन लोगों ने उसे नशीला पदार्थ खिलाकर उसकी हत्या कर दी, ईंट से उसका सिर फोड़ दिया और पेट में वार कर दिया इतना ही नहीं जब बच्ची दर्द से तड़प रही थी तो आरोपी ने वीडियो भी बना लिया और उसे वायरल कर दिया।

दो दिन पहले पीलीभीत के खेत में मिली 9 साल की बच्ची अनम की हत्या के मामले में पुलिस ने बच्ची के दादा शहजादे, बच्ची के पिता अनीस, चाचा शादाब, नसीम और सलीम को गिरफ्तार कर लिया है।

दरअसल, 3 अक्टूबर को लड़की अपने चाचा शादाब के साथ पास के गांव पट्टी के उर्स गई थी, जहां से लड़की गायब हो गई और सुबह उसका शव उसी गांव के एक खेत में मिला. लड़की जिंदा थी। लोग वीडियो बनाते रहे। कुछ देर बाद उसकी मौत हो गई।

परिजनों की शिकायत पर पुलिस ने गांव निवासी शकील के खिलाफ आईपीसी की धारा 302 के तहत मामला दर्ज कर लिया है। शकील के खेत में शव मिला था। बच्ची जब दर्द से तड़प रही थी तो उसका वीडियो भी वायरल हुआ, जिसमें परिजन न तो बच्ची को अस्पताल ले जाने की कोशिश करते दिख रहे हैं और न ही पुलिस को फोन करते हैं। इस वजह से पुलिस को मृतक बच्ची के परिजनों पर शक होने लगा और पुलिस ने उसी दिशा में जांच शुरू की।

मामले पर एसपी दिनेश पी ने कहा कि परिजनों ने बच्ची की हत्या की है गांव में रहने वाले राजकुमार के 10 बच्चे हैं। शहजादे का गांव के ही रहने वाले शकील से 3 साल से झगड़ा चल रहा है। शकील ने कुछ समय पहले शहजादे के बेटे शादाब के खिलाफ रेप का मुकदमा दर्ज कराया था।

उन्होंने आगे आरोप लगाया कि शहजादे ने शकील को फंसाने के लिए एक भयावह योजना बनाई। राजकुमार ने अपने चारों बेटों का नाम शादाब, अनीस, नसीम और सलीम रखा और उन्हें बताया कि अनीस का 1 बेटा और एक बेटी है, इसलिए उन्होंने शकील को अनीस की बेटी की हत्या करते पकड़ा. सबने माना, इस मामले में परिवार की महिलाएं इस साजिश से दूर रहीं।

एसपी के मुताबिक, घटना वाले दिन शादाब अपनी 9 साल की पोती अनम के साथ मेले में गया था और शहजादे वहीं दुकान लगा रहा था उसी समय राजकुमार ने अपनी पोती को नशीली गोलियां खिला दीं, जिससे वह बेहोश हो गई और उसे लकवे की दवा दे दी। रात 4:00 बजे राजकुमार, उसके चारों बेटे शादाब, अनीस, नसीम, ​​सलीम लड़की को लेकर खेत में गए, तभी अनम के पिता अनीस ने ईंट से अनम के सिर पर वार कर दिया और चाचा शादाब ने चाकू से लड़की के पेट पर वार कर दिया। लड़की को मरा हुआ समझ कर कुछ ग्रामीण उसकी तलाश करने लगे।

उन्होंने आगे बताया कि कुछ देर बाद शादाब गांव वालों के साथ घटनास्थल पर पहुंचा, जहां बच्ची को मारकर फेंक दिया गया। लड़की जिंदा थी। इस दौरान सभी वीडियो बनाने लगे और बच्ची को डॉक्टर को नहीं दिखाया, जिसके बाद बच्ची की मौत हो गई।