होम > क्राइम

सेवानिवृत्त दारोगा से 20 लाख की ठगी

सेवानिवृत्त दारोगा से 20 लाख की ठगी

गोरखपुर जिले में साइबर ठगों ने पुलिस विभाग में दरोगा के पद से सेवानिवृत्त फूलबदन द्विवेदी को अपना शिकार बनाया और उनसे २० से २३ लाख रुपये ऐंठ लिए ,ठगों ने सीओ ट्रेजरी बनकर पहले तो उनका ओटीपी जाना फिर उनका एकाउंट खली कर दिया.  

थाना क्षेत्र के सूबाबाजार के रहने वाले पीड़ित दारोगा फूलबदन द्विवेदी 31 मई को संतकबीरनगर जिले से सेवानिवृत्त हुए हैं, सेवानिवृत्ति से पहले संतकबीरनगर के धनघटा थाने में तैनात थे। रिटायरमेन्ट के बाद पुरे कार्यकाल का पीएफ का रुपया उनके एकाउंट में आया था मगर छोटी सी चूक से ठगों ने  सारा रुपया एकाउंट से साफ कर दिया।   

एसएसपी से मिलकर दारोगा अपनी आपबीती सुनते हुए  फफक कर रोने लगे ,उन्होंने जिले के साइबर थाने में केस दर्ज कराया है, 

प्राप्त जानकारी के अनुसार १३ जून को उनके फोन पर 7864073605 नंबर से अभिषेक श्रीवास्तव नाम के किसी व्यक्ति का कॉल आया उसने खुद को सीओ ट्रेजरी आफिसर बताया और पीड़ित को उसकी जन्म तिथि ,पुलिस विभाग में भर्ती की तिथि  व अन्य कई विवरण बता कर पीड़ित को भरोसे में ले लिया। 

आगे उस जालसाज ने उनसे कहा की आपके पेंशन की कार्यवाही को जल्द से जल्द पूरा कर इसे एक्टिव करने के लिए आप के फोन पर एक ओटीपी नंबर आएगा इस नंबर को सिस्टम में फीड करने पर ही एकाउंट में पेंशन आनी शुरू होगी,इतना सुनते ही दरोगा जी अपना ओटीपी नंबर उस जालसाज को बता दिए और ठग ने बड़े आराम से लाखों रूपये निकाल कर एकाउंट खाली कर दिया   


दारोगा की तहरीर के आधार पर साइबर थाना पुलिस मुकदमा दर्ज करके जांच कर रही है। एसएसपी ने साइबर सेल की टीम को भी मामले की जांच करने के लिए कहा है। गोरखपुर जिले का ये कोई पहला ठगी का मामला नहीं हैं, साल भर के अन्दर लगभग ६ मामले सामने आये है खास बात ये है की ठगी के  सभी मामले पुलिस कर्मियों से ही जुड़े है और कुल मिलकर 70 लाख रुपये से  भी अधिक राशि  की ठगी कर चुके हैं।