होम > क्राइम

9 कोचिंग संचालक सहित 35 आरोपी गए जेल, युवाओं को भड़काने का है आरोप

9 कोचिंग संचालक सहित 35 आरोपी गए जेल, युवाओं को भड़काने का है आरोप

अलीगढ़ की पुलिस लगातार हाई अलर्ट पर है,शुक्रवार को हुए हिंसक बवाल के बाद रविवार प्रातः काल से एसएसपी डीएम ने टप्पल, जट्टारी, खैर, सोमना रेलवे स्टेशन का भ्रमण कर स्थिति का जायजा लेने के साथ कानून व्यवस्था के नियंत्रित होने पर संतुष्टि जताई है। वहीं प्रशासन ने अब तक युवाओं को भड़काने वाले 9 कोचिंग संचालकों सहित 35 लोगों को कार्रवाई करते हुए जेल भेजा है।

मालूम हो कि शुक्रवार को अग्निपथ योजना के विरोध प्रदर्शन  में उपद्रवियों द्वारा कई युवाओं को भड़काने का और हिंसक कार्य करने के लिए उकसाया गया था, जिसे पुलिस प्रशासन की ततपरता के चलते समय रहते स्थिति को नियंत्रण में कर लिया था। 
शुक्रवार को हुए बवाल के संबंधित में अब तक 45 लोगों को गिरफ्तार कर पूछताछ की जा रही है। इसी बवाल के चलते जिला प्रशासन द्वारा कोरोना काल में गठित की गई ग्राम सुरक्षा समितियों को बहाल कर सक्रिय कर दिया गया है, जो जनपद के ग्रामीण क्षेत्र में रहकर एक एक मूवमेंट की जानकारी जिला प्रशासन को दे रहे हैं।
इसके अलावा सेना में भर्ती होने की तैयारी करने वाले अभ्यर्थी के परिवार वालों से मिलकर उनसे भी युवाओं को समझाने और किसी भी प्रकार की अफवाहों में ना पड़ने की हिदायत दी गई है युवाओं से किसी प्रदर्शन में शामिल नहीं होने की अपील भी की गई हैं , वहीं सेवानिवृत्त सैनिक भी युवाओ को समझने के कार्य में लग गए है इसके बाद भी अगर कोई उपद्रव करता है तो फिर उसके साथ कानूनन कड़ाई के साथ निपटा जाएगा।
एसएसपी कलानिधि नैथानी ने बताया कि क्षेत्र में हुए हिंसक बवाल के बाद गह-जगह पुलिस फोर्स को तैनात कर दिया गया है।पुलिस ने कुछ घण्टो में स्थिति को पूर्ण नियंत्रण में कर लिया था।क्षेत्र में आने जाने वाले संदिग्ध लोगों को चेक कर पूछताछ की जा रही है।

वीडियो फुटेज की जाँच के लिए कुल १० टीमें गठित की जा चुकी है , वीडियो फुटेजके आधार पर उपद्रवियों चिन्हित कर आगजनी, तोड़फोड़  और कानून व्यवस्था को तोड़ने के आरोप में दंडात्मक कारवाही की जाएगी, किसी भी हालत में इन उपद्रवी तत्वों नहीं बख्शा नहीं जाएगा।