होम > क्राइम

तांत्रिक अनुष्ठान के गलत होने से 4 साल की बच्ची की मौत, पिता गिरफ्तार

तांत्रिक अनुष्ठान के गलत होने से 4 साल की बच्ची की मौत, पिता गिरफ्तार

नेल्लोर:  पुलिस के मुताबिक ,आत्मकुर में जुड़वा लड़कियों के पिता ने  अपनी चार वर्ष की लड़की को तांत्रिक अंधश्रद्धा का शिकार बना दिया, गुरुवार को चेन्नई के एक अस्पताल में इलाज के दौरान डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया ।

मिली जानकारी के अनुसार जुड़वां लड़कियों के  पिता वेणुगोपाल ने बुधवार को अपने घर पर आत्मकुर में एक अजीब अनुष्ठान करते हुए पुनर्विका को  कुमकुम और हल्दी निगलने के लिए मजबूर किया, वेणुगोपाल ने उसपर इतना दबाव डाला  कि  उसने कुमकुम और हल्दी निगल लिया जिससे उसे साँस लेने में तकलीफ होने लगी। परिजनों ने उसे आत्मकुर के एक निजी अस्पताल में भर्ती करवाया लेकिन प्राथमिक उपचार के बाद हालत में सुधर न आने की वजह से डॉक्टर्स ने बच्चे को नेल्लोर के कॉरपोरेट अस्पताल ले जाने की सलाह दी.

जब परिजन लड़की को लेकर नेल्लोर के अस्पताल पहुंचे तो, डॉक्टरों ने उसकी बिगड़ती हालत को देखते हुए उसे चेन्नई रेफर कर दिया।

उसकी मां, जो अपने माता-पिता के गांव में रहती थी, नेल्लोर पहुंचने पर रिश्तेदारों की मदद से लड़की को कांची पीतम के  द्वारा चेन्नई में संचालित चाइल्ड ट्रस्ट अस्पताल में ले गई, लेकिन तब तक देर हो चुकी थी । पुनर्विका ने गुरुवार को अस्पताल में इलाज के दौरान अंतिम सांस ली।

स्थानीय लोगों के मुताबिक  जुड़वां बच्चों की दूसरी लड़की पूर्विका भी इस खतरे में होती अगर वह भी घर पर होती जब वेणुगोपाल अनुष्ठान कर रहे थे।

स्थानीय लोगों ने यहाँ तक कहा कि वेणुगोपाल ने एक नकली बाबा की सलाह पर अपनी संपत्ति विकसित करने के लिए अजीबोगरीब अनुष्ठान किए और पुनर्विका की जान भी इसी मकसद के लिए गयी होगी । सीआई वेणुगोपाल रेड्डी के नेतृत्व में आत्मकुर पुलिस ने बच्ची  के पिता वेणुगोपाल को पहले ही हिरासत में ले लिया था।