होम > क्राइम

ऑनलाइन ऋण ऐप आयोजकों द्वारा परेशान किये जाने पर एक व्यक्ति ने आत्महत्या कर ली

ऑनलाइन ऋण ऐप आयोजकों द्वारा परेशान किये जाने पर एक व्यक्ति ने आत्महत्या कर ली

यह घटना हैदराबाद में हुई है जहाँ तत्काल ऑनलाइन ऋण ऐप आयोजकों द्वारा परेशान किये जाने पर एक 35 वर्षीय व्यक्ति ने मजबूर हो कर आत्महत्या कर ली।  बचुपल्ली पुलिस ने मामला दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है।

मृतक की पहचान राजेश के रूप में हुई है जो अपने साइबराबाद के बचुपल्ली स्थित फ्लैट में मृत पाया गया। एक डिलीवरी बॉय जब पार्सल देने के लिए राजेश के फ्लैट पर पंहुचा, तो सामने से किसी प्रकार की कोई प्रतिक्रिया न मिलने पर उसने पार्सल पर अंकित मोबाइल नंबर पर कॉल किया तो कॉल का जवाब राजेश की पत्नी ने दिया। तब पत्नी ने राजेश को कई कॉल्स किये, लेकिन कॉल्स का कोई जवाब नहीं मिला। तब उसकी पत्नी ने अपार्टमेंट के चौकीदार को फोन किया और उसको राजेश के पास भेजा। जब चौकीदार फ्लैट में पंहुचा तो उसने राजेश को वहाँ मृत पाया और इस घटना की सूचना तुरंत स्थानीय पुलिस को दी।

मृतक एक ऑनलाइन किराना स्टोर के लिए काम कर रहा था। पुलिस को मृतक के घर से कोई भी सुसाइड नोट बरामद नहीं हुआ, लेकिन मौके पर ही पुलिस को एक लेखन बोर्ड मिला, जिस पर मृतक ने तेलुगु भाषा में कुछ लिखा था।

पुलिस द्वारा बरामद किये गए लेखन बोर्ड पर मृतक द्वारा लिखा गया था कि समय से ईएमआई का भुगतान करने के बाद भी आयोजकों द्वारा उसे परेशान किया जा रहा है। सरकार को सम्बोधित करते हुए उसने ये भी लिखा की, आपने पोर्न और ऑनलाइन गेमिंग के कई ऐप्स और वेबसाइट्स को ब्लॉक कर दिया है। कृपया इन ऑनलाइन ऋण ऐप्स को भी ब्लॉक करवा दें।

पुलिस की जाँच के अनुसार, आयोजकों ने राजेश की कुछ नग्न तस्वीरों को उसके संपर्कों से साथ प्रसारित कर दी थीं और उसके साथ गाली-गलौज वाला व्यवहार करने लगे थे। मृतक की पत्नी को भी पति द्वारा लिए गए कर्ज की सूचना थी। लेकिन स्पष्ट रूप से यह नहीं पता था की मृतक ने कितने ऐपस से कितने रूपए का कर्ज लिया था।