होम > क्राइम

धूम्रपान को लेकर झगड़ा, फूड डिलीवरी एग्जिक्यूटिव की चाकू मारकर हत्या

धूम्रपान को लेकर झगड़ा, फूड डिलीवरी एग्जिक्यूटिव की चाकू मारकर हत्या

नई दिल्ली: पश्चिमी दिल्ली के दो निहंग सिखों द्वारा एक 29 वर्षीय खाद्य वितरण अधिकारी की कृपाण और ईंटों से पिटाई कर के हत्या कर दी गई।
मृतक के परिवार वालों का आरोप है कि वह करीब 15 मिनट तक खून से लथपथ पड़ा रहा, लेकिन उसकी मदद के लिए कोई आगे नहीं आया। एक अन्य डिलीवरी एजेंट ने उसे देखा और उसकी मदद के लिए दौड़ पड़ा। जिस रेस्टोरेंट में वह दिन की पहली डिलीवरी ले रहे थे, वह उनके घर से मुश्किल से 2-3 किलोमीटर दूर गली नंबर-13 में था।सागर तिलक नगर के कृष्णा पुरी इलाके में गली नंबर-10 में रहते थे, पीड़िता के बहनोई मोहनलाल के अनुसार, वह आमतौर पर रात में काम करता था ताकि अधिक ऑर्डर मिल सके।

जानकारी के अनुसार सागर ने एक रोल पॉइन्ट से ऑर्डर ले कर विपरीत दिशा में धूम्रपान करते जा रहे थे, उधर से गुजर रहे  निहंगों ने इसका विरोध किया और दोनों में बहस होने लगी तभी निहंगों ने उनपर कृपाण से हमला कर दिया। इसके बाद वह रेस्टोरेंट के पास गिर पड़ा और वह 15-20 मिनट तक छटपटता रहा मगर कोई भी उसकी मदद को आगे नहीं आया।

सागर की मदद के लिए आगे आए डिलीवरी एजेंट की पहचान आसिफ के रूप में हुई है जो उसे लंबे समय से जानता था। “उसने बताया की मैं उसी रोल जॉइंट से अपना ऑर्डर लेने आया था जहा से सागर ने आर्डर कलेक्ट किया था, जब मैंने उसे खून से लथपथ देखा,कोई भी उसके मदद नहीं कर रहा था । 400 मीटर की दूरी पर एक छोटा सा अस्पताल था, लेकिन उसे वहां कोई नहीं ले गया। कुछ लोग पुलिस को फोन करने की कोशिश कर रहे थे लेकिन किसी कारण से संपर्क नहीं हो रहा था। सागर का फोन बज रहा था और ग्राहक कॉल कर रहा था। आसिफ ने ही सागर को अस्पताल पहुंचाया और सागर की पत्नी को घटना की जानकारी दी। 

सागर के साथ अपनी दोस्ती को याद करते हुए आसिफ ने कहा कि वह एक साधारण आदमी था। आसिफ ने आगे कहा, "वह शांत था और अपना काम पूरी लगन से करता था, कभी भी लड़ाई-झगड़ा या बहस नहीं करता था।"

पुलिस के अनुसार, घटना 15 जून को सुबह करीब 12:30 बजे हुई। डीसीपी (पश्चिम) घनश्याम बंसल ने बताया : “हत्या का मामला दर्ज कर लिया गया था  ,और आरोपी निहंगों का पता लगाने के लिए टीमों का गठन कर जाँच शुरू कर दी गई । 24 घंटे के अंदर हत्यारों को गिरफ्तार कर लिया गया। उसकी पहचान चंदर विहार क्षेत्र निवासी हर्षदीप सिंह 22 के रूप में हुई है। अपराध का हथियार बरामद कर लिया गया है। अन्य आरोपितों को भी जल्द पकड़ लिया जाएगा। हर्षदीप वेल्डर का काम करता था। 
जोमैटो के प्रवक्ता ने कहा, हम शोक संतप्त परिवार के संपर्क में हैं और हम हर संभव मदद कर रहे हैं।मृतक के परिवार में पत्नी और 10 साल का एक बेटा है। सागर ने कम उम्र में ही अपने माता-पिता को खो दिया था।