होम > क्राइम

अंतरजातीय विवाह के कारण भाई ने अपनी बहन व उसके पति को मौत के घाट उतरा

अंतरजातीय विवाह के कारण भाई ने अपनी बहन व उसके पति को मौत के घाट उतरा

चेन्नई पुलिस के मुताबिक भारतीय दंड संहिता की धारा 302 (हत्या) के तहत मामला दर्ज किया गया है। पुलिस ने बताया कि आरोपियों को गिरफ्तार कर बाद में रिमांड पर लिया गया है।

एक इंटरकास्ट जोड़े, जिन्होंने एक हफ्ते पहले चेन्नई में अपने परिवारों की इच्छा के खिलाफ शादी करी थी, दुल्हन के भाई और एक अन्य रिश्तेदार ने दोपहर को भोजन करने के बहाने से बुलाकर दोनों की हत्या कर दी थी। पुलिस के मुताबिक घटना सोमवार को कुंभकोणम के पास चोलापुरम के थुलुक्कावेली में हुई. 

पुलिस ने कहा कि मृतक की पहचान तिरुवन्नामलाई के मोहन (31) और कुंभकोणम के पास थुलुक्कावेली निवासी सरन्या (24) के रूप में हुई है, जो कुछ महीने पहले चेन्नई में मिले थे। सरन्या एक निजी अस्पताल में नर्स का काम करती थी और दोनों को प्रेम हो गया था।

अनुसूचित जाति समुदाय से ताल्लुक रखने वाली सरन्या को कथित तौर पर अपने परिवार के कड़े विरोध का सामना करना पड़ा था, जब उसने अपने घरवालो को मोहन के साथ अपने संबंधों के बारे में बताया, जो कि एक अधिक पिछड़ा वर्ग समुदाय से था। सरन्या के घरवालों ने मोहन से शादी करने से मना कर दिया था और उससे कहा था कि उन्होंने एक करीबी रिश्तेदार रंजीत (22) के साथ उसकी शादी तय कर दी है।,सरन्या और मोहन ने एक सप्ताह पहले अपने परिवारों की इजाजत के बिना शादी कर ली थी। 

शादी से बौखलाए, सरन्या के भाई शक्तिवेल ने दोनों से यह बहाना किया कि परिवार जोड़े के साथ सुलह करना चाहता है, भाई ने कथित तौर पर सरन्या और मोहन को दोपहर के भोजन के लिए अपने घर पर आमंत्रित किया था। दंपति सोमवार दोपहर कुंभकोणम पहुंचे और दोपहर का भोजन किया। दोपहर करीब 3 बजे, जब दंपति चेन्नई वापस जाने के लिए घर से बाहर निकले तभी  शक्तिवेल और रंजीत ने कथित तौर पर उन दोनों पर कुल्हाड़ियों से हमला किया और उन्हें मौत के घाट उतार दिया।

स्थानीय लोगों की सूचना के आधार पर चोलापुरम पुलिस मौके पर पहुंची और दोनों शवों को पोस्टमार्टम के लिए कुम्भकोणम के सरकारी अस्पताल भेज दिया.