कोरोना की तीसरी लहर के दौरान दिल्ली में आ सकते हैं रोज़ाना 40 हजार मामले: बीजेपी

कोरोना की तीसरी लहर के दौरान दिल्ली में आ सकते हैं रोज़ाना 40 हजार मामले: बीजेपी

नई दिल्ली | कोरोना की दूसरी लहर के दौरान देश की राजधानी दिल्ली में दैनिक मामले 30 हज़ार को पार कर गए थे। हर जगह ऑक्सीजन और दवाओं के लिए हाहाकार मचा हुआ था। ऐसे में अब दिल्ली बीजेपी (Delhi BJP) ने कहा है कि विदेशों में जिस तरह से कोरोना की तीसरी लहर (third wave of corona) ने कहर बढ़ना शुरू किया है, उससे सबक लेते हुए दिल्ली की केजरीवाल को भी संभावित तीसरी लहर से निपटने के लिए तैयारियों में तेजी लानी चाहिए। 

आईआईटी दिल्ली (IIT Delhi) की एक रिपोर्ट का हवाला देते हुए भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने कहा है कि दिल्ली में कोरोना की तीसरी लहर के दौरान प्रतिदिन 40 हजार मामले आ सकते हैं। प्रदेश अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने कहा कि दिल्ली सरकार (Delhi Govt) ने जिस तरह से पहली और दूसरी कोरोना की लहर में लापरवाही दिखाई, अगर वैसे ही हालात रहे तो यह वास्तव में घातक सिद्ध होगा। उन्होंने केजरीवाल सरकार (CM Arvind Kejriwal) को चेताया कि तीसरी लहर के लिए सभी इंतजाम करें। ताकि पहले की तरह लहर आने पर हाथ खड़े कर जिम्मेदारियों को केंद्र सरकार पर डालने की कोशिश न करें।

प्रदेश अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने आईआईटी दिल्ली की एक रिपोर्ट का हवाला देते हुए कहा, दिल्ली को कोरोना के सबसे बुरे दौर से निपटने के लिए तैयार रहना चाहिए। दिल्ली में तीसरी लहर के दौरान प्रतिदिन 40 हजार तक मामले आ सकते हैं। जिनमें से नौ हजार मरीजों को अस्पताल में भर्ती करने की जरूरत पड़ सकती है। इस स्थिति से निपटने के लिए 500 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की जरूरत होगी।

1Comments