वायु प्रदूषण कम करने के लिए दिल्ली सरकार का बड़ा फैसला, दिवाली पर पटाखे हुए बैन

वायु प्रदूषण कम करने के लिए दिल्ली सरकार का बड़ा फैसला, दिवाली पर पटाखे हुए बैन

नई दिल्ली| दिल्ली में दिवाली के मौके पर हर वर्ष प्रदूषण की समस्या होती है जिसे दूर करने के लिए दिल्ली सरकार ने बड़ा फैसला किया है। प्रदूषण से लड़ने के लिए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बुधवार को लगातार तीसरे साल पटाखों के भंडारण, बिक्री और उपयोग पर पूर्ण प्रतिबंध लगाने की घोषणा की है। 


केजरीवाल ने व्यापारियों से इस वर्ष पटाखों का स्टॉक खरीदने या रखने से बचने के लिए अपील करते हुए ट्वीट किया, "दिल्ली में पिछले तीन वर्षों में दिवाली के दौरान प्रदूषण के खतरनाक स्तर को देखते हुए, हम फिर से लोगों की जान बचाने के लिए किसी भी तरह के पटाखों के भंडारण, बिक्री और उपयोग पर पूर्ण प्रतिबंध लगा रहे हैं।"


यह निर्णय दिल्ली के व्यापारियों को ध्यान में रखते हुए किया गया है क्योंकि पिछले साल ग्यारहवें घंटे की इसी घोषणा ने कई विक्रेताओं को भ्रम में डाल दिया था क्योंकि उन्होंने त्योहार से कुछ हफ्ते पहले ही भारी स्टॉक खरीद लिया।


सर्दियों की शुरुआत के साथ ही राजधानी ताजी हवा के लिए हांफने लगती है क्योंकि पड़ोसी राज्यों यूपी, पंजाब और हरियाणा में फसल-अवशेषों को जलाने के कारण प्रदूषण का स्तर बढ़ने लगता है। पटाखे फोड़ने से समस्या और बढ़ जाती है, जिससे हवा बहुत जहरीली हो जाती है और इसके कारण नागरिकों को कम से कम एक सप्ताह के लिए सांस लेने में गंभीर समस्या होती है।


हाल ही में, मुख्यमंत्री ने वैपकोस रिपोर्ट का हवाला देते हुए केंद्र सरकार से उत्तर प्रदेश, पंजाब और हरियाणा में किसानों को पूसा से बने बायो डी कंपोजर का उपयोग करने के लिए प्रोत्साहित करने का अनुरोध किया।


इसके अलावा दिल्ली सरकार विंटर एक्शन प्लान पर भी काम कर रही है। पर्यावरण से लेकर परिवहन और एमसीडी तक सभी विभागों को 21 सितंबर तक योजना बनाने को कहा गया है ताकि इस महीने के अंत तक किसी नतीजे पर पहुंचा जा सके।

​डिब्बाबंद नहीं हुई सलामन की 'कभी ईद कभी दिवाली', मेकर्स ने किया खुलासा

दिवाली से पहले लॉन्च होगा गूगल और जिओ का जियोफोन नेक्स्ट

0Comments