डेल्टा वेरिएंट शरीर में जल्दी कर रहा असर : स्टडी

डेल्टा वेरिएंट शरीर में जल्दी कर रहा असर : स्टडी

कोरोना वायरस का डेल्टा वेरिएंट पहले की तुलना में अधिक घातक है। डेल्टा वेरिएंट में 1000 गुना अधिक वायरल लोड है। दुनिया भर में ये लोगों को तेजी से संक्रमित कर रहा है। 


हाल ही में डेल्टा वेरिएंट को लेकर चीन में एक स्टडी की गई है। इस स्टडी के जरिए ये पता लगाने की कोशिश की गई है कि ये अल्ट्रा फास्ट तरीके संक्रमण क्यों फैलता है। 


वहीं इस स्टडी में सामने आया है कि डेल्टा वेरिएंट से संक्रमित मरीज के जरिए कोरोना अधिक जल्दी से फैलता है। ये भी कहा गया है कि डेल्टा वेरिएंट पहले वेरिएंट से दोगुना अधिक संक्रामक और स्ट्रॉन्ग है।


इस संबंध में चीन के गुआंगझोउ में स्थित गुआंगडोंग प्रोविंशियल सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल के संक्रामक रोग विशेषज्ञ जिंग लू का कहना है कि उन्होंने इस स्टडी के दौरान कुल 62 लोगों पर रिसर्च की। ये वो लोग थे जिन्हें चीन में पहली बार डेल्टा वेरिएंट संक्रमण हुआ था। संक्रमण का पता चलते ही इन्हें क्वारंटाइन किया गया ताकि इनका संक्रमण अन्य लोगों तक न पहुंच सके।


उन्होंने बताया कि सभी लोगों के शरीर में डेल्टा की मात्रा की कई बार जांच की गई। दिन में कई बार मरीजों के शरीर की जांच हुई ताकि वायरस के बढ़ने और कम होने की स्थिति का पता लगाया जा सके। इसके बाद वैज्ञानिकों ने 2020 में कोरोना के पहले वेरिएंट से पीड़ित लोगों की रिपोर्ट भी देखी।


इसके बाद कहा गया कि डेल्टा वेरिएंट से संक्रमित गों में वायरस की पहचान चार दिन बाद हुई। वहीं पहले वेरिएंट में ये जानकारी छह दिन में मिलती थी। इसका सीधा मतलब हुआ कि डेल्टा शरीर में तेजी से फैल रहा है। ये भी सामने आया कि पहले वेरिएंट से संक्रमित लोगों की तुलना में डेल्टा संक्रमित लोगों के शरीर में वायरस लोड 1260 गुना अधिक था।


हालांकि अब भी इस दिशा में कई स्टडी की जानी बाकी है। अब तक ये स्पष्ट नहीं हुआ है कि क्या डेल्टा कोरोना के पहले वेरिएंट से अधिक गंभीर बीमारियां पैदा कर रहा है। क्या इम्यून सिस्टम पर ये अधिक गंभीरता से वार करता है। ऐसे कई सवालों के जवाब मिलना अभी बाकी है।


गौरतलब है कि भारत में डेल्टा वेरिएंट का पहला मामला 2020 अक्टूबर में सामने आया था। इसके बाद ये खतरनाक वायरस दुनिया भर में संक्रमण फैला रहा है। वर्तमान में 83% कोरोना के मरीज डेल्टा वेरिएंट का शिकार है।


1Comments