होम > शिक्षा

बिहार के मुख्यमंत्री नितीश कुमार ने लिया बड़ा फैसला

बिहार के मुख्यमंत्री नितीश कुमार ने लिया बड़ा फैसला

बिहार के मुख्यमंत्री नितीश कुमार ने बड़ा फैसला लिया है जिसमें उन्होंने कहा है की अब शिक्षकों का चयन STET के माध्यम से नहीं बल्कि CTET से होगा।  अब से बिहार सरकार सेकेंडरी टीचर एलिजिबिलिटी टेस्ट का आयोजन नहीं करेगी बल्कि केंद्रीय शिक्षक प्रतियोगिता परीक्षा के माध्यम से शिक्षकों का चयन करेंगे।  

इससे पहले अगर कोई भी बिहार में सरकारी शिक्षक के लिए दो परीक्षा देता था, मतलब की केंद्रीय शिक्षक परीक्षा और साथ में सेकेंडरी टेस्ट भी जो की राज्य स्तर पर होता थ। दोनों परीक्षा पास होने के साथ ही शिक्षक बनने का सपना पूरा हो सकता था लेकिन अब ऐसा नहीं होगा।  

सरकारी शिक्षक बनने का सपना रखने वाले लोग के लिए यह काफी राहत की खबर है। अगर इक्षुक अभ्यर्थी CTET परीक्षा पास कर लेते हैं तो उनको सीधे भर्ती मिल सकती है।  

बिहार सरकार ने अपर मुख्य सचिव की अध्यक्षता में हुई बैठक में यह निर्णय लिया गया जो की २६ अप्रैल २०२२ को हुई थी।  बिहार सरकार ने इसकी जानकारी बिहार विद्यालय परीक्षा समिति को दे दी है जो राज्य में शिक्षक पात्रता की परीक्षा का आयोजन करती है। 

सरकार ने यह भी जानकारी दी है की अगर भविष्य में शिक्षक पात्रता परीक्षा आयोजित करने की जरुरत पड़ी तो की भी जा सकती है।