होम > शिक्षा

पंजाब में बजट सत्र 2022-23 में 16 नए मेडिकल कॉलेज खुलेंगे

पंजाब में  बजट सत्र 2022-23 में 16 नए मेडिकल कॉलेज खुलेंगे

पंजाब के वित्त मंत्री हरपाल सिंह चीमा ने सोमवार को अपने बजट भाषण में पंजाबी विश्वविद्यालय पटियाला को 200 करोड़ रुपये, अगले पांच वर्षों में 16 नए मेडिकल कॉलेजों, छात्रों के लिए छात्रवृत्ति और बहुत कुछ की घोषणा की। उन्होंने कहा, 'मैं नहीं चाहता कि छात्र यूक्रेन जैसे देशों में चिकित्सा का अध्ययन करें' चिकित्सा शिक्षा के लिए उन्होंने 1,033 करोड़ रुपये का प्रस्ताव पारित किया  जो की 56.60% की वृद्धि होगी उन्होने राज्य में सर्वश्रेष्ठ चिकित्सा शिक्षा इको-सिस्टम प्रदान करने का वादा किया है

 साल 2022 मार्च में आप के सत्ता में आने के बाद भगवंत मान सरकार का पहला बजट पेश करते हुए, वित्त मंत्री जी ने कहा, "पंजाबी विश्वविद्यालय, पटियाला, शुरू में हमारी मातृभाषा पंजाबी को विकसित और बढ़ावा देने के लिए जरूरी रूप से एक बहु-विषयक शैक्षिक प्रणाली के रूप में विकसित हुआ है। हालांकि, यह अतीत में कुप्रबंधन का शिकार हो गया है और इसलिए इस विश्वविद्यालय को फिर से जीवित करने के लिए और मौजूदा वित्तीय संकट से उबरने  के लिए उन्होंने वित्त वर्ष 2022-23 में 200 करोड़ रुपये का आवंटन किया है

इस उद्देश्य  से सरकार ने अगले 5 वर्षों की अवधि के दौरान राज्य में कुल 25 मेडिकल कॉलेज बनाने वाले 16 नए मेडिकल कॉलेज स्थापित करने का प्रस्ताव रखा है ।वित्त मंत्री जी ने एक नए मेडिकल कॉलेज संत बाबा अत्तर सिंह स्टेट इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज को जिला संगरूर में  स्थापना की भी घोषणा की , यह 100 एमबीबीएस सीटों के साथ स्थापित किया जा रहा है। वित्तीय वर्ष 2022-23 में कॉलेज को 50 करोड़ रुपये का प्रारंभिक आवंटन मिलेगा।

 उन्होंने चिकित्सा शिक्षा के लिए 1,033 करोड़ रुपये का प्रस्ताव रखा जो वित्त वर्ष 2021-22 (आरई) की तुलना में 56.60% अधिक है। मौजूदा राज्य सरकार के मेडिकल कॉलेजों के उन्नयन और इन कॉलेजों में एमबीबीएस सीटें बढ़ाने पर भी ध्यान दिया जाएगा।

ram kumar