होम > मनोरंजन

अब चंकी बॉलीवुड में ही नहीं, बांग्लादेशी फिल्मों में भी हिट हैं

अब चंकी बॉलीवुड में ही नहीं, बांग्लादेशी फिल्मों में भी हिट हैं

साल 1987 में चंकी ने बॉलीवुड में अपना खास डेब्यू किया था। उनकी इस फिल्म का नाम भी 'आग ही आग' था। उनकी इस फिल्म के प्रोड्यूसर पहलाज निहलानी थे। और तो और इस फिल्म में लोगों को चंकी का काम बहुत पंसद भी आया था, जिसकी वजह से उन्हें सनी देओल नीलम के साथ फिल्म 'पाप की दुनिया' भी मिल गई। और उनकी यह फिल्म भी बॉक्स ऑफिस पर सुपरहिट साबित हुई। गुजरते वक्त के साथ इसके बाद ही वह 'खतरों के खिलाड़ी', जहरीले', 'आंखें' और तेजाब जैसी सुपरहिट फिल्मों में खास तौर पर नजर भी आए। फिल्म तेजाब में उनकी एक्टिंग के लिए उन्हें बेस्ट सपोर्टिंग अभिनेता का फिल्मफेयर अवॉर्ड भी मिला।

हालांकि 90 के दशक के दौरान उनके करियर का ग्राफ धीरे-धीरे नीच जाने लगा। अपने इस मुश्किल भरे दौर से पार पाने के लिए चंकी ने बांग्लादेशी फिल्मों में भी काम करना शुरू किया, जहां उनकी किसमत अचानक चमक सी उठी। अब तो बॉलीवुड में ही न सही लेकिन वह बांग्लादेश के सुपरस्टार तो बन ही गए। और अपने बांग्लादेशी सिनेमा में बतौर लीड अभिनेता  चंकी ने 'स्वामी केनो असामी', 'बेश कोरेची प्रेम कोरेची', 'मेयेरा ए मानुष' जैसी सुपरहिट फिल्में भी दी।