होम > मनोरंजन > हास्य

हंस लो जी भर के .....

हंस लो जी भर के .....

जब जय वीरू पहली बार जेल में मिले 
तो दोनों ने एक दूसरे से पूछा...... 
की तुम जेल में कैसे आए ...........
जय ने बताया ---- कुछ नहीं यार...... 
मैंने एक छोटी सी रस्सी चुराई थी...... 
वीरू ने बोला -- बस इसके लिए तुम्हे जेल हो गयी 
हां यार........ और दूसरी तरफ भैस बंधी थी 
 ...........................................................................
जब पत्नी मायके से वापस आयी.........
तो पति ने उसका खूब हंस के स्वागत किया......... 
पत्नी ने पूछा --- तुम इतना क्यों हंस रहे हो ......
पति ने बोला गुरूजी ने बताय है कि ...........
जब ही मुसीबत आये तो उसका हंस के सामना करना...... 
............................................................................
एक पागल अपने आपको आईने में देखके........... 
काफी देर तक सोचता रहा......... कि इसको कहीं देखा है... 
........थोड़ा सोचने के बाद खुद से ही बोला......
कि..... अ.....रे ये तो वही है जो उस दिन मेरे सामने
.......बैठ के बाल कटवा रहा था .............