होम > मनोरंजन > हास्य

'नौ-सौ चूहे खाकर बिल्ली हज को चली', मुहावरे का मजेदार जबाव सुनकर नहीं रुकेगी आपकी हंसी

'नौ-सौ चूहे खाकर बिल्ली हज को चली', मुहावरे का मजेदार जबाव सुनकर नहीं रुकेगी आपकी हंसी

टीचर- नौ सौ चूहे खाकर बिल्ली ------ चली, इसमें रिक्त स्थान बलों
चिंटू- नौ सौ चूहे खाकर बिल्ली धीरे धीरे चली,
टीचर गुस्से से- मजाक करता है मेरे साथ, क्लास से बाहर निकल जाओ
चिंटू बोला- सर मैंने तो आपका दिल रखने के लिए कह दिया वरना नौ सौ चूहे खाकर बिल्ली धीरे धीरे तो क्या हिल भी नहीं सकती।
टीचर बेहोश।
______________________________________________________________________________________________________

टीचर- बताओ छिपकली कौन है
बच्चा- मैडम छिपकली एक गरीब मगरमच्छ है, जिसे बचपन में bournvita पीने को नहीं मिला, जिसकी वजह से उसे कुपोषण हो गया और उसकी लंबाई नहीं बढ़ी।
टीचर बेहोश होते-होते बची।
___________________________________________

चिंटू अपने दोस्त पिंटू से बोला- तुझे पता है कल मैंने रॉकेट बनाकर उड़ाया, तो वो सीधे सूरज से टकराया।
पिंटू हैरानी से- अच्छा,, फिर क्या हुआ
चिंटू- कुछ नहीं यार पिटाई हो गई।
पिंटू क्यों- किसने मारा...
चिंटू- सूरज की मम्मी ने....
________________________________________________________________________________

पत्नी अपने पति को डॉक्टर के पास लेकर गई और कहा- डॉक्टर साहब, मेरे पति रोज रात को नींद में बड़बड़ाते हैं।
डॉक्टर- इसका कोई इलाज नहीं हैं।
पत्नी बोली- मैंने कब कहा आप इलाज करिए, बस कम से कम उनको कोई ऐसी दवा दीजिए जिससे मैं उनका बड़बड़ाना साफ सुनकर उनकी खबर ले सकूं।
________________________________________________________________

टीचर क्लास में पढ़ा रहें थे लेकिन चिंटू चुपचाप बैठा था और अपना सिर खुजा रहा था।
टीचर क्या हुआ पढ़ाई पर ध्यान क्यों नहीं दे रहे हो।
चिंटू सर मैं कुछ सोच रहा था, आप उसका जवाब दे देंगे।
टीचर- हां पूछो, क्या पूछना चाहते हो।
चिंटू- सर मैं सोच रहा था कि बड़ी ABCD छोटी abcd से कितने साल छोटी है।
बस तब से सर चुपचाप बैठे हैं....
________________________________________________________________________________