होम > मनोरंजन > हास्य

सांड और औरत, रामू और व्हिस्की, बाबा और भक्त के मजेदार जोक्स

सांड और औरत, रामू और व्हिस्की, बाबा और भक्त के मजेदार जोक्स

हसना जरुरी है

------------------------------------------

एक औरत एक सांड को घी चुपड़ी रोटी खिला रही थी,

वहां खड़े रामू को शक हुआ कि कदाचित वो औरत, सांड को गाय समझ रही है…

रामु : बहन ये सांड है गाय नही, आप इसे रोटियां खिला रही हैं, किंतु यह प्रतिदिन गांव में तीन चार लोगों को सिंग मारकर हड्डियां तोड़ देता है…

औरत : भाई साहब मुझे पता है कि यह सांड है। मेरे पति हड्डी के डॉक्टर हैं उनका हॉस्पिटल इस सांड के कारण ही चल रहा है।

------------------------------------------------------------------------------

रामू  व्हिस्की का एक ग्लास बनाता है और पत्नी से कहता है: लो पिओ इसे

रामू की पत्नी व्हिस्की चखती है, फिर कहती हैं.. छी‍…. छी, कितनी कड़वी है

रामू : और तू सोचती है कि मैं रोज अय्याशी करता हूँ..

ज़हर के घूंट पीता हूँ ज़हर के

-----------------------------------------------------------

भक्त  – बाबा, दाहिने हाथ में खुजलाहट है।

बाबा – वत्स, लक्ष्मी आने वाली हैं।

भक्त – दाएं पैर में भी खुजलाहट है।

बाबा – यात्रा योग बन रहा

भक्त – पेट पर भी खुजलाहट है।

बाबा – उत्तम भोजन की प्राप्ति होगी

भक्त  – गर्दन पर भी खुजलाहट है।

बाबा – दूर हट, तुझे खुजली की बीमारी है

-----------------------------------------------------------

हसने और हँसाने के लिए पढ़ते रहिये मेधज न्यूज़….AR