होम > मनोरंजन > यात्रा

श्रीनाथजी का प्रसिद्ध मंदिर डूंगरपुर

श्रीनाथजी का प्रसिद्ध मंदिर डूंगरपुर

डूंगरपुर राजस्थान का प्रमुख पर्यटन स्थल है। जो अपने कई महलों और सुंदरता की वजह से जाना जाता है। राजस्थान किलों और विरासत के रूप में तो प्रख्यात है ही, यह कई धार्मिक संप्रदायों और उनके श्रद्धेय व पवित्र तीर्थ स्थलों का घर भी है। 

श्रीनाथजी का प्रसिद्ध मंदिर डूंगरपुर स्थित है। इस मंदिर का निर्माण महारावल पुंजराज ने वर्ष 1623 में किया था। श्रीनाथजी मंदिर गैब सागर झील के किनारे पर स्थित है। यह भगवान शिव को समर्पित मंदिर है। यह मंदिर डूंगरपुर के प्रसिद्ध मूर्तिकारों की शानदार कला और शिल्पकारों के कुशल शिल्प कौशल को प्रदर्शित करता है। मंदिरों परिसर में कुछ शानदार कला को उकेरा गया है। यह अत्यनत सुँदर मंदिर है।  ये मंदिर यहाँ तीन मंज़िला कक्ष है। श्रीनाथजी मंदिर के मुख्य आकर्षण श्री राधिकाजी और गोवर्धननाथजी की मूर्ति है। कई उत्कृष्ट नक्काशीदार मंदिर और एक मुख्य मंदिर, विजय राजराजेश्वर मंदिर है। 

डूंगरपुर राजस्थान घूमने कैसे जाये ?

डूंगरपुर राजस्थान राज्य एक अच्छा शहर है, यहां से देश के अन्य प्रमुख शहरों के लिए कोई नियमित उड़ानें नहीं हैं। डूंगरपुर का निकटतम हवाई अड्डा महाराणा प्रताप हवाई अड्डा है जो उदयपुर में 88 किलोमीटर की दुरी पर स्थित है।

डूंगरपुर रेलवे स्टेशन, मुख्य शहर से लगभग 3 किमी की दूरी पर स्थित है, जो डूंगरपुर के लिए नियमित ट्रेनों के माध्यम से देश के अन्य छोटे और प्रमुख शहरों से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है। उदयपुर रेलवे स्टेशन 82 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। कुंडा में कुंडलगढ़ रेलवे स्टेशन भी डूंगरपुर पहुंचने के लिए एक अच्छा विकल्प है। जो 146 किमी की दूरी पर स्थित है।

आप सड़क मार्ग द्वारा भी डूंगरपुर के लिए यात्रा कर सकते हैं। राज्य राजमार्ग देश के प्रमुख शहरों से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है। राजस्थान के सभी प्रमुख और छोटे शहरों से डूंगरपुर के लिए बस उपलब्ध है। यह हाईवे दिल्ली और मुंबई NH8 से 20 किलोमिटर दूर है।