होम > मनोरंजन > यात्रा

मुर्गा महादेव का मंदिर ओड़िशा

मुर्गा महादेव का मंदिर ओड़िशा

मुर्गा महादेव का मंदिर झारखंड के सिंहभूम और ओड़िशा की सीमा पर नोआमुंडी शहर से लगभग 5 किलोमीटर की दूरी पर मुर्गा बेड़ा गांव में स्थित है। यह ओड़िशा के क्योंझर शहर से इसकी दूरी 70 किलोमीटर है। यह राज्य का एक महत्वपूर्ण अयस्क खनन क्षेत्र है। ओडिशा राज्य अपनी में एक समृद्ध विविधता है यह स्थान अपनी संस्कृति और विरासत में बहुत समृद्ध है। ओडिशा मंदिरों की भूमि है।

मुर्गा महादेव मंदिर भगवान शिव को समर्पित एक पौराणिक मंदिर है। महादेव मंदिर से भक्तो का आस्था और धार्मिक महत्व है। यहाँ श्रावण, कार्तिक और शिवरात्रि के समय लाखों की संख्या में भक्त दर्शन-पूजन के लिए आते हैं।

मुर्गा महादेव मंदिर में यूं तो सालों भर भक्तों एवं श्रद्धालुओं का आना जाना और पूजा पाठ करने का सिलसिला चलता रहता है। लेकिन विशेष रूप से सावन के महीने में श्रद्धालुओं और कांवरियों का हुजूम जलाभिषेक के लिए उमड़ पड़ता हैं । परिषर में 25 फीट की उंचाई से गिरते जलप्रपात में स्नान के बाद भक्तों एवं श्रद्धालुओं अलग-अलग पंक्ति लगा कर शिवलिंग पर दूध, जल और भांग फूल धतूरा चढ़ाया जाता है। विभिन्न स्थनो से पवित्र जल लाकर मुर्गा महादेव मंदिर में जलाभिषेक करते है।

आस-पास स्थित जल प्रपात इस स्थान को अद्भुत सौंदर्य प्रदान करते हैं। इसलिए हर साल जाड़े में लोग यहां पिकनिक के लिए भी आते हैं।

कैसे पहुंचे ? 

रेल मार्ग के जरिए टाटा नगर के नोवामुंडी स्टेशन से करीब 15 किमी दूरी पर है। आप निजी वाहन अथवा टैक्सी के द्वारा यहां पहुंचा जा सकता है।