होम > मनोरंजन > यात्रा

बेगुर की हरी भरी वादियों में ट्रैकिंग

बेगुर की हरी भरी वादियों में ट्रैकिंग

केरल धरती पर किसी स्वर्ग से कम नहीं है राज्य अपनी जैव विविधता विविध स्थलाकृति, नदियों, झीलों और नहरों के नेटवर्क से भरा हुआ है, जो अपने बैकवाटर्स, समुद्र तटों और पहाड़ों को चाय, कॉफी, और मसाले के वृक्षारोपण, और वन्यजीवों के ढेर के रूप में जाना जाता है। बेगुर वन्यजीव अभयारण्य वायनाड जिले में केरल के प्रमुख पर्यटन स्थलों में से एक है। यह केरल के उत्तर में वायनाड ज़िले के मानंतवाडी से 20 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। अपने ख़ूबसूरत वातावरण और सुन्दर प्राकृतिक दृश्यों के लिए मशहूर है। प्रकृति प्रेमियों के लिए यह स्थान उपुक्त है।

आपको पहाड़, झरने, हरियाली, वादियां, नदियां और चट्टानें देखनी हों एवं पक्षियों का कलरव सुनना हो तो यह की प्रकृति के नैसर्गिक खूबसूरती बड़ी ही मनमोहक है। 

बेगुर वन्यजीव अभयारण्य में वनस्पतियों और जीवों के साथ आसपास की पहाड़ियाँ और नदी इसे ट्रेक और सफारी के लिए एक आदर्श स्थान बनाते हैं। स्थान हरी भरी वादियों से हो कर ट्रैकिंग कर सकते हैं। एडवेंचर, प्राकृतिक दृश्यों और जुनून से भरे होते हैं। आप ट्रैकिंग यदि अकेले कर रहे हैं तो मेंटली रूप से फिट होना ज्यादा जरूरी हैं नही तो ग्रुप में ट्रैकिंग करे फिर किस बात की चिंता और फिक्र निकल पड़िये। अगर आपको उचाई से डर लगता है तो आपको ट्रैकिंग नहीं करनी चाहिए। यह बेहद खूबसूरत और शांत हिल स्टेशन है। आप ट्रैकिंग, कैंपिंग और लॉन्ग नेचर वॉक का भी मजा ले सकते हैं। यहाँ रस्ते में आप को जंगली जीव देखने को मिल जायगे। यहां की सैर करने के बाद आप खुद को भीतर से तरोताजा महसूस करेगें।