होम > मनोरंजन

'शीर कोरमा' में छाया दिव्या दत्ता की एक्टिंग का जादू, मिला सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री का पुरस्कार

'शीर कोरमा' में छाया दिव्या दत्ता की एक्टिंग का जादू, मिला सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री का पुरस्कार

मुंबई| दिव्या दत्ता बॉलीवुड की ऐसी अभिनेत्री हैं जिनके टैलेंट से हर कोई वाकिफ है। अकेले अपनी एक्टिंग के दम पर उनमें फिल्मों में जान डालने की क्षमता है। उनके सूक्ष्म प्रदर्शन ने सिनेप्रेमी सर्कल और उससे आगे के उनके वफादार प्रशंसकों का दिल जीत लिया है।


वह हमारे फिल्म उद्योग की उन प्रतिभाशाली अभिनेत्रियों में से एक हैं, जो अपने पात्रों की पिच को पूरी तरह से समझती हैं और फिल्म के स्वर के अनुसार उन्हें ठीक से निष्पादित करती हैं। वह एक के बाद एक नॉकआउट प्रदर्शन देने के लिए अपने किरदार की नसों को पकड़ती हैं। 'भाग मिल्खा भाग', 'वीर-जारा' और 'बदलापुर' जैसी कई अन्य फिल्मों में उनके काम इस तथ्य का एक लंबे समय से प्रमाण हैं।


अभिनेत्री को हाल ही में अमेरिका के डलास में डीएफडब्ल्यू साउथ एशियन फिल्म फेस्टिवल में उनकी लघु फिल्म 'शीर कोरमा' के लिए सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री के पुरस्कार से नवाजा गया है। यह फिल्म काफी समय से दुनियाभर के फिल्म समारोहों में यात्रा कर रही है और अंतर्राष्ट्रीय कैनवास पर प्रशंसा जीत रही है।


फराज अंसारी द्वारा अभिनीत 'शीर कोरमा' उन फिल्मों में से एक है, जो एलजीबीटैयूए प्लस समुदाय का प्रतिनिधित्व करती है। इसके मूल में एक दिल को छू लेने वाली कहानी है। फिल्म में दिग्गज अभिनेत्री शबाना आजमी और स्वरा भास्कर भी हैं।


बेहद उत्साहित दिव्या ने इस कार्यक्रम में भाग लेने के बारे में बात करते हुए कहा, "मैं यहां शारीरिक रूप से डलास में होने और पुरस्कार प्राप्त करने के लिए बहुत उत्साहित हूं। अब तक 'शीर कोरमा' के लिए फिल्म समारोह में अधिकांश भागीदारी वर्चुअली हुई। इस बार फराज (फिल्म के निर्देशक) ने विशेष अनुमति ली और इसलिए हम यात्रा कर सके।"


अभिनेत्री ने संयुक्त राज्य अमेरिका में रहते हुए एक अन्य कार्यक्रम में अपनी पुस्तक भी लॉन्च की। काफी सराही गई 'मी एंड मा' के बाद यह उनकी दूसरी किताब है। 'द स्टार्स इन माई स्काई' शीर्षक यह पुस्तक दुनिया के सबसे विपुल फिल्म उद्योग में काम करने के उनके यादगार अनुभव का दस्तावेजीकरण है। यह हिंदी फिल्म उद्योग में उन लोगों के साथ उनकी बातचीत के बारे में भी बताता है, जिन्होंने उनकी अब तक की यात्रा में एक निश्चित भूमिका निभाई है और एक अभिनेता के रूप में उनकी सफलता में योगदान दिया है।


उन्होंने पुस्तक विमोचन पर टिप्पणी करते हुए कहा, "मैं यहां अपनी दूसरी पुस्तक का विमोचन करके भी खुश हूं। अब मैं अगले महीने की शुरुआत में मुंबई लौटने के बाद पुस्तक के साथ कुछ लोगों से मिलने की उम्मीद कर रही हूं।"


जहां 'द स्टार्स इन माई स्काई' 25 अक्टूबर से स्टैंड पर उपलब्ध होगी, वहीं सिनेमा के मोर्चे पर अभिनेत्री 'धाकड़' जैसी अपनी फिल्मों की रिलीज के लिए तैयार हैं। इसमें वह कंगना रनौत के साथ स्क्रीन स्पेस साझा करती नजर आएंगी। अर्जुन रामपाल और अप्लॉज एंटरटेनमेंट की 'शमार्जी की बेटी', जो दोनों अगले साल स्क्रीन पर आएगी।