होम > मनोरंजन > यात्रा

आइये जानते हैं डेविल्स टॉवर के रहस्य को

आइये जानते हैं डेविल्स टॉवर के रहस्य को

डेविल्स टॉवर, जो ब्लैक हिल्स के बेयर लॉज रेंजर जिले में आग्नेय चट्टान से बना है, जो बेले फोर्च नदी के ऊपर, क्रूक काउंटी, उत्तरपूर्वी व्योमिंग में हुलेट और सनडांस के पास में स्थित है।  जिसे माटो टिपिला के नाम से भी जाना जाता है, जिसका अर्थ लकोटा में "भालू लॉज" है, जो एक ज्वालामुखी के समान आकृति वाला है, यह ब्लैक हिल्स से 1,267 फीट ऊपर की ओर उठी हुई है । यह संयुक्त राज्य में पहला राष्ट्रीय स्मारक था, जिसे 24 सितंबर 1906 को टेडी रूजवेल्ट द्वारा नामित किया गया था। हाल के वर्षों में 400,000 वार्षिक आगंतुकों में से लगभग एक प्रतिशत ही वास्तव में टॉवर पर चढ़ते हैं।

अमेरिकी सरकार द्वारा टॉवर को मान्यता दिए जाने से बहुत पहले, मूल जनजातियों के इस टॉवर से भौगोलिक और सांस्कृतिक संबंध थे। उन्होंने इसे 'अलॉफ्ट ऑन रॉक' (किओवा) से लेकर 'ग्रीज़ली बियर लॉज' (लकोटा) तक सब कुछ कहा। 1875 में कर्नल रिचर्ड इरविंग डॉज ने व्योमिंग के माध्यम से एक अभियान का नेतृत्व करने तक इसे उसका राक्षसी नाम नहीं दिया था। उनके दुभाषिया ने अनुवाद को 'बैड गॉड्स टॉवर' कहा, जिसे अंततः डेविल्स टॉवर’ में छोटा कर दिया गया।

डेविल्स टॉवर के बारे में एक महान किंवदंती हैं, जिसमें 6 लड़कियां एक मैदान में फूल चुन रही थीं, जब उन पर एक विशाल भालू द्वारा हमला कर, उनका पीछा किया गया। भगवान ने उन लड़कियों के लिए बुरा महसूस किया और उन लड़कियों के आस पास एक विशाल और गोल ज्वालामुखी के समान टॉवर बना दिया। भालू ने पीछा किया और नवगठित टॉवर पर चढ़ने का बहुत प्रयास किया, लेकिन वे शीर्ष पर नहीं पहुंच सका। टॉवर के किनारों पर पंजा मारते हुए भालू टॉवर से नीचे गिर गया और बहुत ज़्यादा ऊंचाई से गिरने की वजह से वह मर गया।