होम > मनोरंजन > यात्रा

सिंहभूम हाथी रिजर्व पार्क

सिंहभूम हाथी रिजर्व पार्क

भारत का पूर्वी राज्य झारखंड जैव विविधता को मामले में एक समृद्ध क्षेत्र माना जाता है, जो अपने घने जंगलों, नदी-झरनों, धार्मिक स्थलों, लोक-कला संस्कृति और आदीवासी जीवन शैली के लिए काफी ज्यादा प्रसिद्ध है। झारखण्ड राज्य का सिंहभूम में देश का पहला हाथी रिजर्व पार्क प्रोजेक्ट हाथी 2001 के तहत बनाया गया था। सिंहभूम हाथी रिज़र्व झारखण्ड राज्य के पूर्वी और पश्चिमी सिंहभूम के सराइकेला और खरसावाँ जिले में स्थित है। राज्य का सबसे बड़ा जिला है। यह सिंहभूम हाथी रिजर्व लगभग 13,440 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र में फैला हुआ है।
हाथियों की मौजूदा आबादी को उनके प्राकृतिक आवास स्थलों में दीर्घकालिक जीवन सुनिश्चित करने के लिए पर्याप्त हाथियों की आबादी वाले राज्यों को सहायता करने लिए फरवरी 1992 में हाथी परियोजना की शुरू की गई थी। इस प्रोजेक्ट के तहत हाथियों की विशेष देखभाल के लिए हाथी रिजर्व केन्द्रों की स्थापना की गई। परियोजना द्वारा हाथी वन्यजीव संरक्षण अधिनियम के प्रथम अनुसूची में शामिल किया गया है।
आप यहां हाथियों की एक बड़ी संख्या में देख सकते हैं। हाथियों के अलावा आप यहां कई प्रवासी पक्षियों की प्रजातियों को भी देख सकते हैं। यह सिंहभूम जंगल क्षेत्र में कई औषधी गुणों से युक्त वनस्तपतियों का घर भी माना जाता है। अगर हाथी के एक बड़े समूह को करीब से देखना चाहते हैं तो सिंहभूम एक अच्छी जगह है। यह जिला पहाड़ी ढलानों पर घाटियाँ, खड़ी पहाड़े और घने जंगलों से भरा पड़ा है। सिंहभूम पहाड़ियों की बाधा के कारण, वातावरण आम तौर पर सूखी है जुलाई और अगस्त में वर्षा सबसे ज्यादा है वार्षिक औसत जिले में वर्षा लगभग 1422 मिमी है। पश्चिमी सिंहभूम जिले की आबादी का अधिकांश हिस्सा जनजातीय आबादी का है। आप यहां के प्रसिद्ध सिंहभूम हाथी रिजर्व की सैर का आनंद ले सकते हैं। 
कैसे पहुंचें: निकटतम हवाई अड्डा जमशेदपुर है, एवं रांची हवाई अड्डा अधिक स्थानों से जुड़ा है, यह जमशेदपुर से लगभग 120 किलोमीटर की दूरी पर है।
निकटतम रेलवे स्टेशन मनोहरपुर रेलवे स्टेशन है।
सड़क के द्वारा जमशेदपुर शहर से 10 किलोमीटर की दूरी पर है।