कोरोना काल में बढ़ी आई स्ट्रेन की समस्या, ऐसे करें बचाव

कोरोना काल में बढ़ी आई स्ट्रेन की समस्या, ऐसे करें बचाव

कोरोना संक्रमण महामारी के बीच लोग घर से काम करने को मजबूर है। यहां तक की बच्चे भी घर पर ऑनलाइन क्लास लेकर ही स्कूल की पढ़ाई कर रहे है। ऐसे में लगातार कंप्यूटर और मोबाइल स्क्रीन पर देखने का समय काफी बढ़ गया है। इससे लोगों को परेशानी होने लगी है।


दरअसल लगातार डिजिटल स्क्रीन पर देखने के कारण आई स्ट्रेन का खतरा बढ़ने लगा है। बता दें कि स्क्रीन की वजह से आंखों को परेशानी होती है। इसे डिजिटल आई स्ट्रेन कहा जाता है। इस समस्या से पीड़ित व्यक्ति को आंखों में दर्द, लालिमा, फोकस नहीं कर पाना, धुंधला दिखना, गर्दन में दर्द जैसी परेशानी होती है। इससे बचने के लिए कुछ उपाय करना जरूरी है।


काम करते समय 20-20-20 का रूप फॉलो करें


जब भी स्क्रीन पर काम करने बैठें तो 20 मिनट तक काम करने के बाद 20 फीट दूर तक देखें। इसके बाद 20 सेकंड के लिए आंखों को आराम दें। आंखें बार बार झपकाते रहें।


स्क्रीन से बनाए रखें दूरी


काम करते समय जरूरी है कि स्क्रीन और आंखों के बीच नियमित दूरी बनी रहे। बिलकुल स्क्रीन के पास जाकर काम करने से बचें। आंखों और स्क्रीन के बीच कम से कम एक फुट की दूरी होना जरूरी है। स्क्रीन की ऊंचाई को भी आंखों से नीचे रखें।


रोशनी का रखें ख्याल


काम करते समय रोशनी का खास ख्याल रखें। अगर आप अंधेरे कमरे में काम कर रहे हैं तो स्क्रीन की लाइट आंखों पर नकारात्मक असर डाल सकती है। ऐसे में कोशिश करें की जहां काम करें वहां पर्याप्त रोशनी हो।


प्रदूषण से रहें दूर


जहां भी आप काम करते हैं वहां प्रदूषण न होने दें। प्रदूषण के कारण आंखों में जलन होने की समस्या हो सकती है। 


आई प्रोटेक्टर का करें इस्तेमाल


डिजिटल स्क्रीन पर काम करने से खुद को रोकना मुश्किल है तो आप आई प्रोटेक्टर चश्मे का इस्तेमाल कर सकते है।


0Comments