किसानों और प्रशासन के बीच हुआ समझौता, किसानों में खत्म किया आंदोलन

किसानों और प्रशासन के बीच हुआ समझौता, किसानों में खत्म किया आंदोलन

करनाल| हरियाणा के करनाल में जारी किसानों का प्रदर्शन शनिवार को प्रशासन से वार्ता के बाद खत्म हुआ। आंदोलन खत्म किए जाने की घोषणा भारतीय किसान यूनियन के अध्यक्ष गुरनाम सिंह चादुनी और हरियाणा के अतिरिक्त मुख्य सचिव (एसीएस) देवेंद्र सिंह ने संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस में इसकी घोषणा की।


एसीएस सिंह ने कहा कि "किसान नेताओं के साथ कई दौर की बातचीत के बाद हम किसानों की मांगों पर विचार कर रहे हैं।"


उन्होंने कहा कि राज्य सरकार एसडीएम आयुष सिन्हा के खिलाफ जांच के लिए उच्च न्यायालय के सेवानिवृत्त न्यायाधीशों की एक जांच समिति गठित करेगी।


इस बीच एक महीने के भीतर जांच पूरी करने के दौरान उन्हें छुट्टी पर भेज दिया जाएगा।


अन्य मांगों पर बात करते हुए एसीएस सिंह ने कहा कि दुर्भाग्यपूर्ण घटना में मरने वाले किसान परिवार के दो सदस्यों को डीसी दर पर स्वीकृति पदों की नौकरी दी जाएगी।


उन्होंने कहा कि इन पदों को स्थायी करने की संभावना अधिक है।


इस बीच, चादुनी ने संवाददाता सम्मेलन में कहा कि वार्ता सकारात्मक रूप से समाप्त हुई और वे खुश हैं कि सरकार ने उनकी मांगों पर विचार किया है।


उन्होंने कहा कि परिवार के दो सदस्यों को एक सप्ताह के भीतर नौकरी मुहैया करा दी जाएगी।


हालांकि सिन्हा के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने की अन्य प्रमुख मांगों में से एक के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि सेवानिवृत्त न्यायाधीशों द्वारा जांच के बाद शिकायत दर्ज कराने से मामले को और मजबूती मिलेगी।


आंदोलन को समाप्त करने पर, चादुनी ने कहा कि "हम परिणामों से संतुष्ट हैं और यह हमारी जीत है। यह कहते हुए कि नए कृषि कानूनों के खिलाफ विरोध दिल्ली की सीमा पर और पूरे देश में हमेशा की तरह जारी रहेगा।"

0Comments