जंतर मंतर से किसानों ने भरी हुंकार, संसद तक पहुंचाएंगे आवाज

 जंतर मंतर से किसानों ने भरी हुंकार, संसद तक पहुंचाएंगे आवाज

नई दिल्ली| कृषि कानून के खिलाफ किसानों का आंदोलन अब जंतर मंतर पहुंच चुका है। कड़ी सुरक्षा के बीच किसान जंतर मंतर पहुंचे। किसानों का आंदोलन बीते नवंबर से लगातार जारी है।


बता दें कि केंद्र सरकार द्वारा पारित तीन कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग को लेकर किसान नारे लगाते हुए धरना स्थल पर पहुंचे। ये धरना अगस्त तक जारी रहेगा। रोज किसान अपनी मांगों को लेकर आवाज बुलंद करेंगे।


किसान उन बसों में पहुंचे, जिन्हें दिल्ली पुलिस ने कोविड के नियमों का पालन करते हुए समग्र सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए एस्कॉर्ट किया था।


मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो जंतर मंतर पहुंचने वाले हर किसान के पास एक खास पहचान पत्र होगा। इसे रोजाना चेक किया जाएगा। चेक करने के बाद ही किसानों को जंतर मंतर में घुसने की अनुमति मिलेगी। ये पहचान पत्र संयुक्त किसान मोर्चा ने किसानों को जारी किए है।


जंतर-मंतर के आसपास गुरुवार सुबह से ही पुलिसकर्मियों की भारी तैनाती देखी गई है। दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने कोविड के उचित व्यवहार को बनाए रखते हुए किसानों को 'किसान संसद' आयोजित करने की मंजूरी दे दी है।


दिल्ली पुलिस ने 22 जुलाई से 9 अगस्त तक केवल 200 किसानों को धरना स्थल पर इकट्ठा होने की अनुमति दी है। यहां सुबह 11 बजे से शाम 5 बजे तक किसान प्रदर्शन कर सकेंगे।


0Comments