पलवल में बच्चों की मौत को लेकर हरियाणा सरकार का बड़ा बयान, कहा अस्वच्छता हो सकती है मौत का कारण

पलवल में बच्चों की मौत को लेकर हरियाणा सरकार का बड़ा बयान, कहा अस्वच्छता हो सकती है मौत का कारण

चंडीगढ़| हरियाणा के पलवल में बच्चों की मौत के पीछे सरकार ने स्वच्छता को कारण बताया है। स्वास्थ्य विभाग ने पलवल जिले में सात बच्चों की मौत सर्वे किया था। इस सर्वे के हवाले से कहा कि मौतों का कारण संदिग्ध बुखार नहीं, बल्कि अस्वच्छ स्थितियां हो सकती हैं। सात बच्चों में से दो की उम्र पांच साल से कम थी और बाकी पांच की पांच साल से ऊपर थी।


सरकार ने यहां एक बयान में कहा, प्रकोप का संभावित कारण अस्वच्छ स्थितियां और पीने के पानी के अवैध पाइप कनेक्शन हो सकते हैं, जिसके कारण पीने का पानी दूषित हो गया।


हालांकि, कहा गया कि महामारी-विज्ञान के तरीके से जांच पूरी होने पर मौतों के अंतिम कारण की पुष्टि की जा सकती है।


अतिरिक्त मुख्य सचिव (स्वास्थ्य) राजीव अरोड़ा ने कहा कि जिले के मिर्च और चिल्ला गांवों में बच्चों में संदिग्ध बुखार से होने वाली मौतों की जानकारी जिला स्वास्थ्य अधिकारियों को मिली है।


जमीनी स्थिति का आकलन करने के लिए प्रभावित क्षेत्र में जिला रैपिड रिस्पांस टीम भेजी गई है। डब्ल्यूएचओ के प्रतिनिधि के साथ समन्वय में एक महामारी-विज्ञान के तरीके से जांच का आदेश दिया गया था।


अरोड़ा ने कहा कि प्रभावित गांव मिर्च और चिल्ला की आबादी क्रमश: 2,947 और 763 है, जिसमें कुल 186 और 72 घर हैं। यह प्रकोप 9 सितंबर को शुरू हुआ था।


रैपिड रिस्पांस टीम ने 12 सितंबर को प्रकोप की जांच के लिए प्रभावित क्षेत्र का दौरा किया और घरेलू सर्वेक्षण किया गया। चल रही महामारी विज्ञान जांच के अनुसार, बुखार के मामलों की घर-घर जाकर तलाश की जा रही है और मंगलवार तक कुल 1,089 घरों की जांच की गई।


उन्होंने कहा कि अधिकारियों ने पेयजल की पाइप लाइन में लीकेज पाया और जन स्वास्थ्य अधिकारियों को इसे जल्द से जल्द ठीक करने का निर्देश दिया गया है।


क्षेत्र में एक अस्थायी चिकित्सा शिविर स्थापित किया गया है और मामलों का लक्षण के आधार पर इलाज किया जा रहा है और गंभीरता के अनुसार रेफर किया जा रहा है।


उन्होंने कहा कि महामारी विज्ञान की जांच पूरी होने के बाद ही मौतों के अंतिम कारण पर टिप्पणी की जा सकती है, लेकिन प्रथम दृष्टया प्रकोप का संभावित कारण अस्वच्छ स्थिति और अवैध पेयजल पाइप कनेक्शन हो सकता है।

0Comments