होम > राज्य > हिमाचल प्रदेश

हिमाचल में निजी स्कूलों की मनमानी पर लगेगी रोक, फीस तय करने के लिए बिल लाने की तैयारी में सरकार

कोरोना काल में काम-धंधा ठप होने से परेशान अभिभावक निजी स्कूलों पर फीस को लेकर मनमानी करने का आरोप लगा रहे हैं। इसे लेकर अभिभावक प्रदर्शन भी कर रहे हैं। उनकी इस परेशानी को देखते हुए हिमाचल सरकार आने वाले मॉनसून सत्र में निजी स्कूलों की फीस नियंत्रित करने का बिल पेश करने जा रही है। हिमाचल प्रदेश निजी स्कूल (फीस और अन्य मामलों का विनियमन) विधेयक 2021 विधानसभा के 2 अगस्त से शुरू होने वाले मॉनसून सत्र में पेश करने की तैयारी है।


मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, लोगों से मिले सुझावों के आधार पर शिक्षा निदेशालय ने रिपोर्ट तैयार कर सरकार को भेज दी है। आगामी कैबिनेट बैठक में बिल के प्रारूप पर चर्चा की जाएगी। कैबिनेट से स्वीकृति मिलने के बाद बिल को विधानसभा में रखा जाएगा। बता दें कि पिछले साल जब फीस को लेकर अभिभावकों ने प्रदर्शन किए तो सरकार ने सिर्फ ट्यूशन फीस वसूलने के निर्देश दिए, लेकिन निजी स्कूलों की मनमानी जारी रही। अभिभावकों के विरोध को देखते हुए उपायुक्तों की अध्यक्षता में जिला स्तरीय कमिटियां बनाई गईं, जो फीस से जुड़ी शिकायतें सुनेंगी। लेकिन, यह तरीका भी कारगर नहीं हुआ। अब सरकार फीस को लेकर कानून लाने की तैयारी कर रही है। इसमें आम लोगों के सुझावों को भी शामिल किया गया है। वहीं, निजी स्कूलों ने भी इसे लेकर अपने सुझाव दिए हैं। उनकी मांग है कि निजी स्कूलों को वार्षिक फीस में 6 से 10 प्रतिशत की बढ़ोतरी देने की अनुमति मिले, ताकि वे बच्चों को अच्छी शिक्षा दे सकें। वहीं, अभिभावक संगठन फीस में 6 फीसदी की वार्षिक वृद्धि के विरोध में हैं।