होम > भारत

भारत का 62 प्रतिशत पैसा, 5 प्रतिशत अमीरो की जेब में, केन्द्रीय बजट को, 18 महीने तक दे सकते हैं फंड

भारत का 62 प्रतिशत पैसा, 5 प्रतिशत अमीरो की जेब में, केन्द्रीय बजट को, 18 महीने तक दे सकते हैं फंड

लोगो कहते थे, कि भारत एक समय सोने  की चिड़ियाँ हुआ करता था, लेकिन अंग्रेजो ने इसे लूट  - लूट कर खोखला कर दिया हैं, तब से भारत की गिनती गरीब देशो में होती हैं। लेकिन क्या सच में भारत एक गरीब देश हैं ? इसका साफ़ साफ जवाब हैं नहीं। 

भारत में पैसा भी बहुत हैं, और सोना भी 

भारत  में पैसा भी बहुत हैं, और  सोना भी, सोना मंदिरो के दान पात्रों में, और पेसा अमीरो की तिजोरियों में। इसी बीच ऑक्सफैम की ताजा रिपोर्ट सर्वाइवल ऑफ द रिचेस्ट: द इंडिया स्टोरी के अनुसार 2021 में 5 प्रतिशत भारतीयों के पास देश का 62 प्रतिशत पैसा है। नीचे के 50 प्रतिशत भारतीयों के पास महज देश का 3 प्रतिशत ही पैसा है। वहीं अगर टॉप एक प्रतिशत अरबपतियों की बात करें तो उनके पास देश का 40 प्रतिशत से ज्यादा पैसा है। 

 21 टॉप अमीरों के पास 700 मीलियन भारतीयों से ज्यादा पैसा 

ऑक्सफैम की एक रिपोर्ट के मुताबिक भारत के 21 टॉप अमीरों के पास 700 मीलियन भारतीयों से ज्यादा पैसा है। ऑक्सफैम की ताजा रिपोर्ट बताती है कि पिछले साल नवंबर से भारतीय अमीरों की संपत्ति में 121 प्रतिशत इजाफा हुआ है। मौजूदा समय के हिसाब से 3608 करोड़ रुपए प्रतिदिन के हिसाब से यह संपत्ति बढ़ी है। यह रिपोर्ट वर्ल्ड इकॉनामिक फोरम में साझा की जाएगी। रिपोर्ट बताती है कि 2020 में भारत में कुल 102 ही अरबपति थे, जिनकी संख्या 2022 में बढ़कर 166 हो गई है। 

 केन्द्रीय बजट को 18 महीने तक कर सकता फंड

सौ भारतीय अरबपतियों की कुल संपत्ति 660 बिलियन यानी 54.12 लाख करोड़ रुपए है। इस पैसे का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि यह भारत के कुल केन्द्रीय बजट को 18 महीने तक फंड कर सकता है।
msn