होम > दुनिया

अमेरिकी प्रतिबंधों के बाद भी भारत ईरान के साथ कारोबार जारी रखेगा

रूस से S-400 डील करने के बाद अब भारत ने स्पष्ट संकेत दिए हैं कि वह अमेरिकी प्रतिबंधों के बाद भी ईरान के साथ कारोबार को जारी रखेगा। सरकारी रिफाइनर्स ने ईरान से 1.25 मिलियन टन क्रूड ऑइल खरीदने के लिए अनुबंध किया है। इतना ही नहीं, भारत ने डॉलर में पेमेंट्स की जगह रुपये में कारोबार करने की दिशा में भी कदम बढ़ाने की तैयारी कर ली है।

ट्रंप प्रशासन इस साल मई में तेहरान के परमाणु कार्यक्रम पर एक समझौते से पीछे हट गया था | अब वह 4 नवंबर से ईरान के कच्चे तेल उपभोक्ताओं पर एकतरफा प्रतिबंधों को फिर से लागू कर रहा है | प्रतिबंधों का उद्देश्य तेहरान को सीरिया और इराक में संघर्षों में शामिल होने से रोकना और इसके बैलिस्टिक मिसाइल कार्यक्रम को रोकने के लिए मजबूर करना है | ईरान का कहना है कि उसने साल 2015 के परमाणु समझौते का पालन किया है |

रूस से S-400 मिसाइल डील के बाद अब भारत ने अमेरिका को दूसरा झटका दिया है | भारत ने साफ संकेत दिए हैं कि वह अमेरिकी प्रतिबंधों के बाव