होम > भारत

24X7 सतह आधारित जल आपूर्ति परियोजनाओं को 2024 तक पूरा करने की योजना

24X7 सतह आधारित जल आपूर्ति परियोजनाओं को 2024 तक पूरा करने की योजना

24x7 सतह आधारित जलापूर्ति परियोजना जुलाई 2024 तक पूरी हो जाएगी। अब तक लगभग 16 प्रतिशत काम पूरा हो चुका है।

 

पंजाब म्युनिसिपल इन्फ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट कंपनी (पीएमआईडीसी) के तहत क्रियान्वित की जा रही नहर जल परियोजना की प्रगति को लेकर हाल ही में मेयर करमजीत सिंह रिंटू की अध्यक्षता में एक बैठक का आयोजन किया गया था।

 

बैठक के दौरान एक निर्माण कंपनी एलएंडटी लिमिटेड के अधिकारियों ने दावा किया कि नहर जल परियोजना को जुलाई 2024 तक पूरा करने का लक्ष्य रखा गया था। कंपनी को इस परियोजना के संचालन और रखरखाव के लिए 10 साल का अनुबंध भी प्रदान किया गया है।

 

इस परियोजना से 30 वर्षों तक शहर के निवासियों को लाभ होने की उम्मीद है। वाटर-ट्रीटमेंट प्लांट से पानी को शुद्ध किया जाएगा और पाइपलाइन के जरिए घरों तक पहुंचाया जाएगा। शहरवासियों को प्रतिदिन लगभग 440 मिलियन लीटर पानी प्राप्त होगा। इसके लिए शहर में 51 नए बड़े ओवरहेड वाटर टैंक बनाए जाएंगे और 24 पुरानी पानी की टंकियों की मरम्मत भी की जाएगी। शहर में 112 किमी में नई पानी की पाइपलाइन भी बिछाई जाएगी।

 

वल्ला गांव में करीब 40 एकड़ जमीन पर वाटर ट्रीटमेंट प्लांट लगाने का निर्माण कार्य अभी चल रहा है। अब तक 16 फीसदी काम पूरा हो चुका है। एमसी ने विश्व बैंक के साथ परियोजना के संबंध में एक कानूनी समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं। जलापूर्ति और सीवरेज सेवा को चलाने के लिए एक सरकारी कंपनी का गठन किया जाना है, जिसका नेतृत्व नगर निगम करेगा।

 

वर्तमान में शहरवासियों को नलकूपों के माध्यम से पेयजल की आपूर्ति की जा रही है। शहर में 565 क्रियाशील नलकूप हैं, जिससे क्षेत्र में भूजल की कमी हो गई है। इसके अलावा, मौजूदा बुनियादी ढांचे के कारण निवासियों को दूषित पानी की आपूर्ति की जा रही है।