होम > भारत

कांग्रेस विधायक अदिति सिंह व बसपा विधायक वंदना सिंह भाजपा में शामिल

कांग्रेस विधायक अदिति सिंह व बसपा विधायक वंदना सिंह भाजपा में शामिल

अपने-अपने दल में बगावत का बिगुल पहले ही फूंक चुकीं रायबरेली की सदर सीट से कांग्रेस की विधायक अदिति सिंह ने आखिरकार भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) का दामन थाम ही लिया। हर एक कदम से कोई संदेश देने का प्रयास राजनीतिक दल करते हैं। अदिति सिंह के पाला बदलने को कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के गढ़ रायबरेली में दरार मान रहीstory , वहीं भाजपा वंदना सिंह के साथ आने से सपा मुखिया अखिलेश यादव के संसदीय क्षेत्र आजमगढ़ में जमीन मजबूत होते देख रही है। प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने कहा हैं कि यह दोनों महिला विधायक सोनिया गांधी, प्रियंका गांधी वाड्रा और डिंपल यादव को टक्कर देंगी।


उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में अपनी ताकत बढ़ाने के लिए भाजपा ने दूसरे दलों पर भी नजरें गढ़ा दी हैं। पिछले दिनों पार्टी के सीतापुर विधायक राकेश राठौर सपा में शामिल हुए तो उसके बाद भाजपा ने चार सपा एमएलसी तोड़ लिए। अन्य दलों में भगदड़ का संदेश यही संदेश देने के लिए बुधवार को दो विधायकों को पार्टी की सदस्यता दिला दी। रायबरेली के सदर से कांग्रेस विधायक अदिति सिंह और आजमगढ़ के सगड़ी क्षेत्र से बसपा विधायक वंदना सिंह शाम करीब पांच बजे भाजपा मुख्यालय पहुंचीं, जहां प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने उन्हें भाजपा में शामिल कराया।


महिला विधायकों का स्वागत करते हुए प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव ने उम्म्मीद जताई कि इनके आने से पार्टी मजबूत होगी। साथ ही बोले कि इनमें अदिति सिंह तो कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के गढ़ रायबरेली से हैं और वंदना सिंह आजमगढ़ की मजबूत नेता हैं, जो सपा मुखिया अखिलेश यादव का संसदीय क्षेत्र है। उन्होंने कहा कि यह दोनों महिला विधायक सोनिया गांधी, प्रियंका गांधी वाड्रा और डिंपल यादव को टक्कर देंगी।


अदिति सिंह ने कहा था कि कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी केवल स्टंट कर रही हैं। अगर वह महिलाओं के लिए जागरूक होती तो सबसे पहले अपने निजी सचिव संदीप सिंह के खिलाफ कार्रवाई करतीं, जिस पर महिला से छेड़छाड़ का मुकदमा दर्ज हुआ है। अदिति का यह भी कहना है कि कांग्रेस महासचिव सिर्फ राजनीति कर रही है। उनके पास अब मुद्दे नहीं बचे हैं।