होम > भारत

कोरोना अपडेट : मोदी ने दी मुख्‍यमंत्रियों को सलाह, पाबंदियां लगाते समय लोगों का ध्यान रखे

कोरोना अपडेट : मोदी ने दी मुख्‍यमंत्रियों को सलाह, पाबंदियां लगाते समय लोगों का ध्यान रखे

कोरोना की तीसरी लहर से निपटने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने गुरुवार को मुख्यमंत्रियों के साथ एक बैठक की। बैठक में केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह भी मौजूद रहे। बैठक में प्रधानमंत्री ने राज्यों में स्वास्थ्य ढांचे की तैयारियों का जायजा लिया। साथ ही कई अन्‍य महत्वपूर्ण मुद्दों पर चर्चा हुई। बैठक में प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने मुख्‍यमंत्रियों से कहा कि कोविड-19 के खिलाफ रणनीतियां बनाते समय अर्थव्यवस्था और आम लोगों की आजीविका पर भी गौर करना होगा।


कोरोना स्थिति पर राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक के दौरान पीएम मोदी ने कहा कि पिछले वेरिएंट की तुलना में ओमिक्रोन तेजी से फैल रहा है, ये अधिक ट्रांसमिसिबल है। हमारे स्वास्थ्य विशेषज्ञ स्थितियों का आकलन कर रहे हैं। स्पष्ट है कि हमें सतर्क रहना है।


हम भारत के 130 करोड़ लोग, अपने सामूहिक प्रयासों से निश्चित रूप से कोरोना महामारी से विजयी होंगे। रही बात ओमिक्रोन की तो इसके बारे में प्रारंभिक तस्‍वीर धीरे-धीरे साफ हो रही है। यह वैरिएंट सामान्य आबादी को पिछले वाले वैरिएंट की तुलना में कई गुना तेजी से संक्रमित कर रहा है।


आज राज्यों के पास पर्याप्त मात्रा में वैक्सीन है। फ्रंटलाइन वर्कर्स और वरिष्ठ नागरिकों को 'प्रीकाशन डोज' जितनी जल्द लगेगी उतना ही हमारे हेल्थ केयर सिस्टम का सामर्थ्य बढ़ेगा। शत-प्रतिशत टीकाकरण के लिए हर घर दस्तक अभियान को हमें और तेज करना है।


हमें सतर्क और सावधान रहना चाहिए लेकिन पैनिक से बचना चाहिए। खासकर त्योहारों के मौसम में लोगों और प्रशासन की सतर्कता कम नहीं होनी चाहिए। मौजूदा वक्त में ओमिक्रोन से लड़ने के अलावा हमें भविष्य में भी इस वायरस के किसी भी वैरिएंट के लिए तैयार रहने की जरूरत है।


महामारी से लड़ने में अब तक अपनाए गए सामूहिक दृष्टिकोण को केंद्र और राज्य सरकारों को जारी रखना चाहिए। कोविड महामारी के खिलाफ टीकाकरण सबसे बड़ा हथियार है। अग्रिम पंक्ति के कार्यकर्ताओं और वरिष्ठ नागरिकों को जितनी जल्दी हम एहतियाती खुराक देंगे, हमारी स्वास्थ्य प्रणाली उतनी ही मजबूत होगी।